राज्‍यपाल ने कहा, संकटकाल में भी राजनीतिक रोटियां सेंक रही हैं ममता

कोलकाता। अब तक पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ट्वीट से ममता बनर्जी पर हमला करते रहे हैं। लॉकडाउन पर केंद्र से चल रही तनातनी के बीच इस बार राज्यपाल धनखड़ ने ममता से सीधे मोर्चा लिया है। उन्होंने ममता बनर्जी पर आरोप लगाया है कि सरकार ऐसे संकट की घड़ी में राजनीतिक रोटियां सेंक रही है। यह समय राजनीति का नहीं है लेकिन वह राजनीति कर रही हैं। राज्य में लॉकडाउन का पालन नहीं हो रहा है। धार्मिक आयोजन किए जा रहे हैं। उनके बार-बार हाथ जोड़कर अनुरोध करने के बाद भी उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही।
जगदीप धनखड़ ने कहा कि पश्चिम बंगाल की जनता केंद्र सरकार के साथ है लेकिन ममता सरकार लॉकडाउन का पालन नहीं करवा रही है।
उन्होंने आरोप लगाया, ‘मैंने राज्य सरकार को कई बार आगाह किया। यह तीसरा विश्व युद्ध है। उन्हें कहा कि यह राजनीतिक रोटियां सेकने का समय नहीं है। मुझे धक्का लगा है राजनीति लोगों को कहां तक ले जा सकती है।
टकराव की मुद्रा में राज्य सरकार
राज्यपाल ने कहा, ‘ममता सरकार टकराव की मुद्रा में है। उनसे कोई भी सवाल पूछो तो वह मुझे कुछ नहीं बताती हैं। मैंने उनके मरकज मामले में पूछा कि कितने लोगों को पकड़ा गया। राज्य में कितनी तबलीगी जमात से संबंधित लोग मिले तो उन्होंने मुझसे कहा कि कम्युनल सवाल मत पूछिए। मैं हैरान हूं।’
‘पारदर्शी नहीं है कुछ भी’
राज्यपाल ने कहा कि राज्य में 70 लाख किसान हैं। किसान सम्मान निधि के तहत सत्तर लाख किसानों को आर्थिक मदद मिल जाती लेकिन ममता सरकार ने ऐसा नहीं किया। केंद्र सरकार को जानकारी नहीं दी गई जिससे गरीब किसान मदद से महरूम रह गए। उन्होंने आरोप लगाया है कि यहां पर कुछ भी पारदर्शी नहीं है। एक खास वर्ग के गरीबों को राशन नहीं दिया जा रहा है। उन्हें भूख का सामना करना पड़ रहा है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *