पंजाब कांग्रेस का कलह चरम पर, …तो क्या कांग्रेस छोड़ देंगे कैप्‍टन?

सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के खेमों में जारी तनातनी के बीच आज शाम 5 बजे कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई गई है। इस बीच सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोनिया गांधी से साफ कर दिया है कि इस तरह के अपमान के साथ कांग्रेस में बने रहना संभव नहीं है।
न्यूज़ एजेंसी ANI ने सूत्रों के हवाले से बताया कि आज कांग्रेस विधायक दल की बैठक से पहले पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी दोपहर 2 बजे विधायकों की एक बैठक बुलाई है।
ऐसे में माना जा रहा है कि आज शाम को होने वाली बैठक के दौरान अगर कैप्टन के खिलाफ किसी तरह का कड़ा कदम उठाया जाता है तो वह कांग्रेस पार्टी से नाता तोड़ सकते हैं।
पंजाब के लिए कांग्रेस के पर्यवेक्षक अजय माकन ने कहा, मैं कांग्रेस विधायक दल (CLP) की बैठक के लिए पंजाब जा रहा हूं। मुझे नहीं पता कि कौन-कौन हिस्सा लेगा लेकिन यह कांग्रेस विधायक दल की बैठक है। कोई हड़बड़ी नहीं है, सब ठीक है।
उधर, पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू राज्य कांग्रेस विधायक दल (CLP) की बैठक से पहले पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय पहुंच गए हैं।
पंजाब कांग्रेस के महासचिव परगट सिंह ने कहा है कि पार्टी की कुछ आंतरिक नीतियां हैं, उसी पर चर्चा के लिए बैठक बुलाई गई है। पार्टी के भीतर कोई परेशानी नहीं है, मुझे लगता है कि हर किसी का अपना नजरिया होता है और इसे CLP बैठक में सुना जाना चाहिए।
दरअसल, ऐसा माना जा रहा है कि बैठक में सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ ‘कुछ बड़ा फैसला’ हो सकता है। कहने का मतलब है कि पंजाब में आज कैप्टन की ‘अग्निपरीक्षा’ है।
गुरूवार देर रात पंजाब प्रभारी हरीश रावत के ट्वीट ने पंजाब की सियासत में एक बार फिर उबाल ला दिया। हरीश रावत ने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की एक बैठक शाम 5 बजे पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में बुलाई गई है। कांग्रेस नेता हरीश रावत ने लिखा कि ऐसा ‘बड़ी संख्या में विधायकों’ के अनुरोध पर किया जा रहा है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *