सिने एम्पलाइज का फैसला, बकाया चुकता करने वाले निर्माताओं के प्रोजेक्ट्स ही पूरे होंगे

नई द‍िल्ली। सिने एम्पलाइज यून‍ियनों की बैठक में फैसला ल‍िया गया क‍ि कलाकारों व एम्प्लॉइज का बकाया भुगतान करने वाले निर्माताओं के प्रोजेक्ट्स की ही शूट‍िंग शुरू हो सकेगी। ऐसे न‍िर्माताओं की सुची भी बना ली गई है।

Indian Film and TV Producers Council (आईएफटीपीसी) और फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्पलाइज (एफडब्ल्यूआईसीई) की बैठक में ऐसे निर्माताओं की सूची तैयार करने का फैसला लिया गया है। तय ये भी हुआ है कि शूटिंग अब उन्हीं फिल्मों और टीवी सीरियलों की फिर से शुरू हो सकेगी, जिनके निर्माता अपना बकाया चुकता कर देंगे।

दो महीने से भी ज्यादा समय से बंद शूटिंग के बीच भी अपने कलाकरों और तकनीशियनों का भुगतान न करने वाले फिल्म और टेलीविजन धारावाहिकों की सूची जल्द ही सार्वजनिक हो सकती है।

कोरोना संकट के मुंबई में असर दिखाने के बाद से ही दैनिक वेतन भोगी कलाकारों और तकनीशियनों की हालत काफी खस्ता है। टीवी धारावाहिक उद्योग में कलाकारों का वेतन शूटिंग के 90 दिन बाद देने का नियम निर्माताओं ने अपनी तरफ से बना रखा है। इसे कुछ निर्माताओं ने धारावाहिक के प्रसारण के 90 दिन बाद कर लिया है। इस बारे में कोई सरकारी कानून न होने से कलाकार काफी संकट में रहे हैं। कलाकारों के हितों का दम भरने वाली संस्था सिनटा ने कभी इसे लेकर निर्माताओं पर दबाव तक नहीं बनाया। सिनटा ने कामगारों की फेडरेशन से भी खुद को अलग कर रखा है।

लॉक डाउन के दौरान कुछ कलाकारों के आर्थिक तंगी के चलते आत्महत्या कर लेने के बाद फेडरेशन ने ये मामला अपने हाथ में ले लिया है। फेडरेशन की तरफ से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को भेजे गए एक पत्र में इस बात पर खास जोर दिया गया है कि लॉकडाउन के बाद फिल्मों की शूटिंग शुरू होने से पहले सभी कलाकारों और कर्मचारियों के पूरे बकाये का भुगतान किया जाए। फेडरेशन की मांग ये भी है कि शूटिंग शुरू होने के बाद निर्माता हर कलाकार और कर्मचारी को महीने के हिसाब से वेतन देना सुनिश्चित करे।

राज्य सरकार के निर्देश इस बारे में आते, उससे पहले ही निर्माताओं ने मामले की गंभीरता को देखते हुए फेडरेशन की इस शर्त को मान लिया है। प्रोड्यूसर्स काउंसिल ने फेडरेशन से उन निर्माताओं की सूची भी मांगी है जिन्होंने अपने यहां काम कर चुके कामगारों के वेतन का भुगतान नहीं किया है। शूटिंग शुरू होने से पहले फेडरेशन और यूनियन उन निर्माताओं पर ही कार्रवाई करेंगी और कामगारों के बकाए का भुगतान करवाएंगी।

जिन कलाकारों या तकनीशियनों का पैसा किसी निर्माता पर बकाया है वे इसकी शिकायत फेडरेशन की ईमेल आईडी federationcineemployees@yahoo.co.in पर सीधे कर सकते हैं। निर्माता से भुगतान मिलने की दिक्कत होने पर संबंधित कलाकार या तकनीशियन सीधे फेडरेशन के मोबाइल नंबर 9029444000 पर भी फोन कर सकते हैं।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *