UAE में हुआ अब तक का सबसे बड़ा कानूनी सुधार, जनवरी 2022 से लागू

संयुक्त अरब अमीरात UAE ने अपने यहां क़ानून प्रणाली में व्यापक सुधार के लिए मंज़ूरी दे दी है.
दावा किया जा रहा है कि इन सुधारों का मक़सद सामाजिक स्थिरता और अधिकारों को सुनिश्चित करने और अवसरों को बढ़ाना है.
एक आधिकारिक घोषणा के मुताबिक इसके तहत 40 से अधिक क़ानूनों को शामिल किया गया है. इस लिहाज़ से संयुक्त अरब अमीरात में हुआ ये अब तक का सबसे बड़ा कानूनी सुधार है.
अमीरात न्यूज़ एजेंसी की ख़बर के मुताबिक ये नए कानून “ईयर ऑफ द 50” के दौरान आया है और इसका उद्देश्य यूएई की विकासात्मक उपलब्धियों के साथ तालमेल बनाना है. साथ ही भविष्य की योजनाओं के लिए भी आधार देना है.
डब्ल्यूएएम की ख़बर के अनुसार कानून में संशोधन का उद्देश्य निवेश, व्यापार और उद्योग, संरक्षण, कॉपीराइट, ट्रेडमार्क, ट्रस्ट सेवाओं और निवास सहित विभिन्न क्षेत्रों में कानूनी संरचना को विकसित और स्थापित करना है.
इसके अलावा सामजिक स्तर पर सुधार के लिए भी इन कानूनों को महत्वपूर्ण माना जा रहा है.
इसके तहत समाजिक और व्यक्तिगत सुरक्षा, अपराध और सज़ा, ऑनलाइन सुरक्षा और नशीले पदार्थों के उत्पादन, बिक्री और उपयोग को नियंत्रित करने वाले कानून लाए गए हैं.
नए क़ानून में रेप की सज़ा को सख़्त किया गया है. नए फ़ेडरेल क्राइम और पनिशमेंट लॉ के तहत रेप या बिना सहमति के शारीरिक संबंध बनाने के आरोपी के लिए आजीवन कारावास का प्रावधान किया गया है.
इस नए क़ानून में कहा गया है कि अगर पीड़ित की उम्र 18 साल से कम है या वह विकलांग है तो आरोपी की सज़ा को बढ़ाकर मृत्यदंड भी दिया जा सकता है.
यूएई की सरकारी मीडिया के मुताबिक शेख ख़लीफ़ा बिन ज़ायद अल नाहयान ने देश की कानूनी प्रणाली में व्यापक सुधार को मंजूरी दी.
क़ानूनों में बदलाव और नए क़ानून के तहत महिलाओं और घरेलू नौकरों के लिए सुरक्षा को बेहतर करने की कोशिश की गई है.
इन क़ानूनों को 2 जनवरी 2022 से पूरी तरह से लागू किया जाएगा.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *