बाइडेन प्रशासन ने अपने नागरिकों के लिए यात्रा परामर्श जारी किया

वॉशिंगटन। अमेरिका के जो बाइडेन प्रशासन ने अपने नागरिकों के लिए कोविड-19 महामारी और आतंकवाद के मद्देनजर भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश की यात्रा की योजना पर पुनर्विचार करने संबंधी यात्रा परामर्श जारी किया है।
भारत के बारे में अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत में कोरोना वायरस के केस लगातार कम हो रहे हैं लेकिन अभी भी भारत लेवल 4 में आता है जो यात्रा के लिहाज से सबसे खराब है। उसने कहा कि भारत-पाकिस्‍तान सीमा पर जान का खतरा है, इसलिए अमेरिकी नागरिक वहां पर न जाएं।
यही नहीं, अमेरिका आने वाले दो साल से ज्‍यादा उम्र के भारतीयों के लिए यात्रा की तिथि से तीन दिन के अंदर का कोरोना वायरस निगेटिव टेस्‍ट जरूरी कर दिया गया है। विदेश मंत्रालय ने नागरिकों से अफगानिस्तान की यात्रा नहीं करने की भी अपील की है। दक्षिण एशिया के चारों देशों के लिए यात्रा परामर्शों को अपडेट करते हुए अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने सोमवार को अलग-अलग यात्रा परामर्श जारी किए हैं। परामर्श में कहा गया, ‘कोविड-19, आतंकवाद और जातीय हिंसा की वजह से लोग पाकिस्तान की यात्रा करने की योजना पर पुनर्विचार करें।’
‘भारत-पाकिस्तान सीमा पर जाने से बचने को कहा’
वहीं परामर्श में अमेरिकी नागरिकों से आतंकवाद और अपहरण की घटनाओं के मद्देनजर बलूचिस्तान और खैबर पख्तुनख्वा प्रांतों में नहीं जाने की अपील की गई है। नागरिकों से आंतकवाद और संभावित संघर्ष की आशंका की वजह से भारत-पाकिस्तान सीमा ‘नियंत्रण रेखा से लगने वाले इलाकों’ में जाने से बचने को कहा गया है। इसमें कहा गया है, ‘भारत-पाकिस्तान सीमावर्ती क्षेत्रों की यात्रा नहीं करें। इस इलाके में आतंकी समूह गतिविधियां चलाते रहते हैं। भारत और पाकिस्तान की सीमा के दोनों तरफ मजबूत सैन्य मौजूदगी है। भारत और पाकिस्तान के सैन्य बलों के बीच अक्सर नियंत्रण रेखा के दोनों ओर से गोलीबारी और गोलाबारी होती रहती है।’
पाकिस्तान के अलावा अमेरिका ने नागरिकों से कोविड-19 महामारी तथा अपराध, आतंकवाद और अपहरण की घटनाओं की वजह से बांग्लादेश की यात्रा की योजना पर भी पुनर्विचार करने को कहा है। वहीं, एक अन्य परामर्श में कोविड-19, अपराध, आतंकवाद, अशांति, अपहरण और सशस्त्र संघर्ष की वजह से अफगानिस्तान की यात्रा नहीं करने की अपील की है। परामर्श में कहा गया है कि यात्रा के लिहाज से अफगानिस्तान के सभी इलाके असुरक्षित हैं। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने ब्राजील, आयरलैंड, ब्रिटेन और अन्य यूरोपीय देशों से आने वाले यात्रियों पर एक बार फिर औपचारिक रूप से कोविड-19 के मद्देनजर यात्रा प्रतिबंध लगा दिया। वायरस के नए स्वरूप के खतरे के मद्देनजर दक्षिण अफ्रीका को भी इन प्रतिबंधित देशों की सूची में शामिल किया गया है।
इंडियन टूरिज्‍म एंड हॉस्पिटलटी संघ ने भारत सरकार से गुहार लगाई
अमेरिका ने भारत को लेवल 4 में रखा है। चौथे स्तर पर रखे गए देश ‘यात्रा नहीं करने’ के परामर्श की श्रेणी में आते हैं। उधर, इंडियन टूरिज्‍म एंड हॉस्पिटलटी संघ (FAITH) ने भारत सरकार से गुहार लगाई है कि वे अमेरिका सरकार से ट्रेवेल अडवाइजरी को बदलने के लिए दबाव डाले। फेथ ने कहा कि सरकार इसे प्राथमिकता के आधार पर उठाए ताकि देश के बारे में बन रही नकारात्‍मक छवि को रोका जा सके। फेथ ने कहा कि इस समय पर्यटन उद्योग कोरोना महामारी की वजह से गंभीर संकट से गुजर रहा है और जल्‍द ही भारत में यह उद्योग फिर से अपने आपको शुरू करने जा रहा है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *