बिहार विधानसभा में तेजस्‍वी यादव ने सुनाई दर्जी-पोशाक और राजा की कहानी

पटना। बिहार विधानसभा में गृह विभाग में कटौती प्रस्ताव पर जब तेजस्वी ने बोलना शुरू किया तो उन्होंने सदन में अपने स्कूल के जमाने की दर्जी-पोशाक और राजा की कहानी सुनाई। इस कहानी से पहले उन्होंने सदन में आरोप लगाया कि बिहार में गवर्नेंस नाम की कोई चीज नहीं बची है। लॉ एंड ऑर्डर पर बोलते हुए तेजस्वी ने कहानी सुनाई।
तेजस्वी ने सुनाई सदन में स्कूल वाली कहानी
तेजस्वी ने सदन में दर्जी-पोशाक और राजा की कहानी सुनाई। उन्होंने कहा कि ‘एक बार एक राजा को दर्जियों ने कहा कि हम आपको देवताओं वाली पोशाक पहनाएंगे लेकिन उसका धागा देवलोक से लाना पड़ेगा। दर्जियों ने राजा को कहा कि ये पोशाक बेवकूफों को नहीं दिखाई देगी। काफी दिन हो जाते हैं तो दो मंत्रियों को राजा पोशाक की तैयारी देखने भेजते हैं। मंत्री अंदर जाते हैं तो देखते ही दो दर्जी यूं ही हवा में हाथ पैर मार रहे हैं। एक मंत्री कहता है कि आपलोग बहुत बढ़िया पोशाक बना रहे हैं, दूसरा मंत्री भी बेवकूफ बनने के डर से साथी मंत्री की हां में हां मिला देते हैं। अंत में राजा देखने जाते हैं तो उनको भी कुछ दिखाई नहीं देता लेकिन बेवकूफ बनने के डर से वो भी चुपचाप लौट जाते हैं।’
इसके बाद तेजस्वी ने कहा कि ‘आखिर में दर्जी राजा को देवताओं वाली कथित पोशाक पहना देते हैं और उन्हें नगर में घुमाते हैं लेकिन राजा तो नग्न थे क्योंकि ऐसी कोई पोशाक तो थी ही नहीं। लोग भी चुप रह जाते हैं।’ तेजस्वी ने इसके बाद कहा कि बिहार में भी सुशासन के नाम पर पोशाक है जो है तो नहीं लेकिन सब मजबूरी में देख रहे हैं।
TTM करने वाले लोग नहीं बताते हकीकत: तेजस्वी
तेजस्वी ने इसके बाद पोशाक का उदाहरण देते हुए अप्रत्यक्ष तौर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मंत्रियों और अफसरों पर सवाल उठाए। तेजस्वी ने कहा कि ‘TTM यानि ताबड़तोड़ तेल मालिश करने वालों को बिहार में अपराध नहीं दिख रहा क्योंकि वो इसे राजा की पोशाक के जैसा मान रहे हैं।’
गोपालगंज शराब कांड में गरीबों को फांसी
सदन में तेजस्वी की शेरो-शायरी भी सुनने को मिली। पहले उन्होंने लॉ एंड ऑर्डर पर ये शेर पढ़ा कि ‘ हुकूमत की नाकामियों से अक्सर दिल दहल जाते हैं, लोगों की चीखों में भी न जाने कैसे ये सो जाते हैं’। इसके बाद तेजस्वी ने रुपेश हत्याकांड, पटना से अब तक गायब गुप्ता बंधुओं समेत कई वारदातों का जिक्र करते हुए गोपालगंज के खजूरबानी जहरीली शराब कांड का मुद्दा उठाया।
तेजस्वी ने सदन में कहा कि ‘गोपालगंज में गरीबों को फांसी की सजा हुई जबकि सप्लायर सत्ता के मजे ले रहे हैं। ‘ एक तरह से तेजस्वी ने बिहार पुलिस पर सवाल उठाए और कहा कि ‘न्यायालय पर भी शराबबंदी के केस को लेकर बोझ बढ़ रहा है। हम चाहते हैं कि निर्दोष बचे और दोषियों को सजा हो।’
तेजस्वी ने नीतीश के मंत्रियों के बयान को ही बनाया आधार
तेजस्वी ने कहा कि कुछ मंत्री ऐसे हैं जो ‘राजा की पोशाक’ को देखने वालों से अलग हैं। वो सच कह रहे हैं तेजस्वी ने मुजफ्फरपुर में उप मुख्यमंत्री रेणु देवी के उस बयान को आधार बनाया कि उन्होंने SSP को फोन करके खुद कहा था कि आप सरकार की बदनामी करा रहे हैं।
तेजस्वी ने नीतीश पर भी कसा तंज
जाहिर है कि तेजस्वी ने मुजफ्फरपुर कारोबारी मर्डर में रेणु देवी, दरभंगा सोना लूट कांड में संजय सरावगी का बयान उठाते हुए चालाकी से सरकार पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि कुछ सत्ताधारी नेता और मंत्री हिम्मत दिखाते हुए पोशाक यानि लॉ एंड ऑर्डर की असलियत बता रहे हैं। तेजस्वी ने मुख्यमंत्री नीतीश पर तंज कसते हुए कहा कि ऐसे मंत्री और नेता अगर न रहें तो राजा की परेड वाली हालत हो सकती है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *