सर्वदलीय चर्चा में न बुलाए जाने पर तेजस्‍वी नाराज

पटना। भारत-चीन सीमा पर मौजूदा गतिरोध पर चर्चा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) को बुलावा नहीं दिया गया है।
बुलावा नहीं भेजे जाने पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने नाराजगी जाहिर की है। तेजस्वी यादव ने कहा कि आरजेडी के पांच सांसद हैं, लेकिन हमें सर्वदलीय बैठक में नहीं बुलाया गया। तेजस्वी यादव ने रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से कहा है कि वे बताएं कि आरजेडी को क्यों न्योता नहीं भेजा गया।
इस पर केंद्र सरकार के सूत्रों का कहना है कि इस बैठक में उन्हीं पार्टियों को आमंत्रित किया गया है जिनके लोकसभा में कम से कम पांच सांसद हैं। इसके अलावा इस बैठक में नॉर्थ-ईस्ट की प्रमुख पार्टियों, और केंद्रीय मंत्रियों को बुलाया गया है। यहां बता दें कि आरजेडी सभी पांच सांसद राज्यसभा में हैं, लोकसभा में पार्टी के एक भी सांसद नहीं हैं।
पीएम मोदी ने बुलाई है सर्वदलीय बैठक
भारत-चीन बॉर्डर पर टकराव वाले हालात बनने के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 जून को शाम पांच बजे सर्वदलीय बैठक बुलाई है। यह वचुर्अल बैठक होगी, जिसमें प्रमुख दलों के अध्यक्ष भाग लेंगे। पूर्वी लद्दाख के गलवान क्षेत्र में चीनी सेना के साथ संघर्ष में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए हैं और एलएसी के पास लगातार तनाव बना हुआ है। इसकी के मद्देनजर प्रधानमंत्री ने यह महत्वपूर्ण बैठक बुलाई है।
सर्वदलीय बैठक में पिनाकी मिश्रा करेंगे बीजद का प्रतिनिधित्व
भारत-चीन सीमा पर मौजूदा गतिरोध पर चर्चा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में बीजू जनता दल (बीजद) ने लोकसभा सांसद पिनाकी मिश्रा को अपना प्रतिनिधि बनाया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को लिखे पत्र में ओडिशा के मुख्यमंत्री एवं बीजद के प्रमुख नवीन पटनायक ने कहा कि लोकसभा में पार्टी के नेता मिश्रा सर्वदलीय बैठक में पार्टी का प्रतिनिधित्व करेंगे। विपक्ष ने लद्दाख के गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैन्यकर्मियों के शहीद होने के बाद इस संबंध में जानकारी मांगी थी। प्रधानमंत्री के साथ सर्वदलीय बैठक शुक्रवार को हो रही है।
आंध्र मुख्यमंत्री सर्वदलीय बैठक में भाग लेंगे
भारत-चीन सीमा की स्थिति पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुक्रवार को बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी भाग लेंगे। एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गयी है। इसमें कहा गया है कि मुख्यमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए होने वाली बैठक में हिस्सा लेंगे। बयान के अनुसार, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री से फोन पर बातचीत की और उन्हें शुक्रवार को होने वाली बैठक के बारे में जानकारी दी। सीमा पर अप्रैल में शुरू हुए तनाव के बाद यह पहला मौका है जब प्रधानमंत्री ने इस संबंध में चर्चा के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई है।
ममता सर्वदलीय बैठक में शामिल होंगी
लद्दाख में चीन-भारत सीमा पर स्थिति पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुक्रवार को बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शामिल होंगी। तृणमूल कांग्रेस के सूत्रों ने यह जानकारी दी। बनर्जी ने बुधवार को कहा था कि स्थिति पर चर्चा के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाने संबंधी केन्द्र का कदम सही फैसला है। तृणमूल कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘हमारी पार्टी प्रमुख वीडियो कांफ्रेंस के जरिये होने वाली बैठक में शामिल होंगी। जैसा कि उन्होंने पहले ही कहा था कि हम संकट की इस घड़ी में देश के साथ खड़े हैं।’ पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुए संघर्ष में 20 भारतीय सैन्यकर्मी शहीद हो गये थे।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *