तस्लीमा नसरीन ने कहा, तब्लीगी जमात मानवता की दुश्‍मन इसलिए बैन किया जाए

नई दिल्‍ली। देश इस वक्त कोरोना महामारी के संकट से जूझ रहा है। इस मुश्किल वक्त में तब्लीगी जमात के जमातियों ने केंद्र और राज्य सरकारों की मुश्किलें और बढ़ा दी हैं। दिल्ली के निजामुद्दीन तब्लीगी जमात मरकज से निकाले गए हजारों जमातियों में से सैंकड़ों को कोरोना संक्रमण हुआ है। इनमें से बड़ी संख्या में जमाती अलग-अलग राज्यों में जा चुके हैं और सरकार की अपील के बावजूद सामने नहीं आ रहे हैं। इस बीच अपनी बेबाक लेखनी और खुलकर राय रखने के लिए पहचानी जाने वाली मशहूर लेखिका तस्लीमा नसरीन का एक बयान सामने आया है जिसमें उन्होंने तब्लीगी जमात को मानवता का दुश्मन बताते हुए उसे बैन करने की मांग की है।
तस्लीमा नसरीन ने किया ये ट्वीट
बेबाक लेखिका तस्लीमा नसरीन अपनी बेबाक टिप्पणी को लेकर भी पहचानी जाती हैं। दिल्ली का तब्लीगी जमात मरकज का मामला सामना आने के बाद उन्होंने भारत सरकार से तब्लीगी जमात को तत्काल बैन करने की मांग की है। तस्लीमा फिलहाल विस्थापित होकर भारत में रह रही हैं।
तस्लीमा नसरीन ने ट्वीट करते हुए कहा कि भारत में तब्लीगी जमात कोरोना की सुपर स्प्रेडर के तौर पर सामने आई है। यह जमात मानवता के खिलाफ क्रूर प्रदर्शन कर रही है। उन्होंने कहा कि उज्बेकिस्तान, तजाकिस्तान, कजाकिस्तान ने जमातियों को कार्यक्रम में शामिल होने से मना कर दिया। जमात के आतंकवादियों से इनडायरेक्ट कनेक्शन हैं।
तस्लीमा ने एक और ट्वीट करते हुए कहा कि तब्लीगी जमात की वजह से बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हुए हैं और मारे गए हैं। यह जमात अज्ञानता और कट्टरपंथ पूरी सदी से चला रही है। मानवता के खिलाफ क्रूरता दिखाने वाली इस संस्था को बैन कर दिया जाना चाहिए।
सैंकड़ों जमाती संक्रमित
देश की राजधानी से निकाले गए हजारों तब्लीगी जमातियों में से सैंकड़ों को संक्रमण पाया गया है। बड़ी संख्या में जमाती देश के अलग अलग राज्यों में पहुंच गए हैं। इनसे भी कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ने का खतरा पैदा हो गया है। सरकार की मुश्किल ये है कि अपील करने के बावजूद जमाती जांच के लिए सामने नहीं आ रहे हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *