तालिबान ने कहा, हमने ‘पंजशीर’ के अपने भाइयों से बातचीत का आह्वान किया

तालिबान के प्रवक्ता ज़बीउल्लाह मुजाहिद ने मंगलवार को कहा कि हमने ‘पंजशीर के अपने भाइयों’ को बातचीत करने का आह्वान किया है. उन्होंने कहा कि पंजशीर के लोगों की कुछ आपत्तियां हैं और उसे दूर करने के लिए हम उनसे एक प्रतिनिधिमंडल के ज़रिए बातचीत करने जा रहे हैं.
तालिबान के सांस्कृतिक आयोग के एक सदस्य मुफ़्ती अनामुल्ला समांगानी ने बताया है कि बातचीत के लिए काफ़ी गंभीर प्रयास किए जा रहे हैं.
उन्होंने बताया है कि एक प्रतिनिधिमंडल ”ख़ुद अहमद मसूद और पंजशीर मामले में शामिल कई अन्य लोगों से मुलाकात करेगा.” गौरतलब है कि काबुल पर तालिबान के क़ब्ज़े से बहुत पहले से पंजशीर प्रांत के नेता सरकार से उन्हें अधिक स्वायत्तता देने की मांग कर रहे थे.
बताया जाता है कि पंजशीर घाटी के हालात काफ़ी तनावपूर्ण बने हुए हैं. रिपोर्ट के अनुसार घाटी के विरोधियों ने तालिबान लड़ाकों को रोक दिया है. तालिबान ने निकटवर्ती बदख़्शां प्रांत से एक दर्रे के ज़रिए पंजशीर घाटी में प्रवेश करने का प्रयास किया लेकिन वे ऐसा करने में नाकाम रहे.
पंजशीर के विरोधियों के दस्ते में जा मिले अफ़ग़ान सेना के कमांडो मेजर वज़ीर अकबर ने दावा किया है कि अंजुमन दर्रे पर उसके पलटवार में कई लोग हताहत हुए हैं. पंजशीर चारों तरफ से बदख़्शां, तख़र और बागलान प्रांतों से घिरा हुआ है, जो अब तालिबान के नियंत्रण में है.
पंजशीर के विरोधियों को अब तक कोई ख़ास विदेशी समर्थन नहीं मिल पाया है. इस बीच अहमद मसूद ने दावा किया है कि तालिबान का सामना करने के लिए उसके पास पर्याप्त गोला-बारूद और हथियार हैं.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *