अफ़ग़ानिस्तान के सैनिक बेस पर तालिबान का हमला, 130 की मौत

Taliban attack on Afghanistan's military base, 130 killed
अफ़ग़ानिस्तान के सैनिक बेस पर तालिबान का हमला, 130 की मौत

काबुल। अफगानिस्तान के मज़ार-ए-शरीफ में एक सैनिक बेस पर हुए शुक्रवार को हुए तालिबान के हमले में मरने वालों की संख्या बढ़कर 130 हो गई है. मृतकों में अधिकांश सरकारी सैनिक हैं.
हमला शुक्रवार रात बाल्ख प्रांत के शहर मज़ार-ए-शरीफ में हुआ. दोनों ओर से लड़ाई कई घंटे तक चली.
सेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि तालिबान के लड़ाके सेना की वर्दी में थे.
उत्तरी अफगानिस्तान में एक सैन्य अड्डे पर तालिबान के हमले में 100 से अधिक अफगान सैनिक हताहत हो गए ।
अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय ने आज कहा कि हमले के समय ‘‘हमारे अधिकतर सैनिक शुक्रवार की नमाज पढ़ रहे थे। अफगान सेना के 100 से ज्यादा सैनिक हताहत हुए हैं।
उन्होंने सैनिकों को उस वक्त निशाना बनाया जब सैनिक जुमे की नमाज पढ़ने के बाद मस्जिद से बाहर निकल रहे थे. और कैंटीन में बैठे हुए थे.
एक बयान में तालिबान ने हमले की ज़िम्मेदारी ली है. इसमें कहा गया है कि उसके आत्मघाती हमलावरों ने इसे अंज़ाम दिया.
इस लड़ाई में दस तालिबान लड़ाकों की मौत हो गई और एक हमलावर को हिरासत में लिया गया.
सेना के एक प्रवक्ता ने कहा कि तालिबान लड़ाके सेना की वर्दी में आए थे और वो झुंड में थे और चेकपोस्ट से होकर आए.

अमरीकी सेना के प्रवक्ता जॉन थॉमस नए इसे एक बड़ा हमला बताया. लेकिन उन्होंने अफ़गानिस्तान के सैनिकों की तारीफ़ की.

मजार-ए-शरीफ अफगानिस्तान नेशनल आर्मी की 209 कोर का मुख्यालय है, जो उत्तरी अफगानिस्तान के अधिकांश इलाके को सुरक्षा देता है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तरी अफगानिस्तान में एक सैन्य अड्डे पर हुए आतंकवादी हमले की आज निंदा की

मोदी ने एक ट्वीट किया, ‘‘मैं मजार-ए-शरीफ में हुए कायराना आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा करता हूं। हम इस हमले में अपने प्रियजन को खोने वाले परिवारों के लिए प्रार्थना करते हैं और उनके प्रति संवेदनाएं प्रकट करते हैं।’’ अफगानिस्तान में मजार ए शरीफ के निकट सैन्य अड्डे पर कल तालिबान के हमले में अफगानिस्तान के 50 से अधिक जवानों की मौत हो गई।

यह हमला एक मस्जिद में नमाज पढ़ रहे जवानों और भोजनकक्ष में मौजूद अन्य लोगों को निशाना बनाकर किया गया था।

इस हमले की जिम्मेदारी तालिबान ने ली है। -एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *