…आख‍िर ये भी तो कानून का मजाक उड़ाना ही है

भतृहर‍ि ने कहा था- क्षत‍ि क्या है= समय पर चूकना… और हम ये क्षत‍ि बहुत पहले से करते आ रहे

Read more