फादर्स डे: तुम मुझमें ज़िंदा हो, फ़ुर्सत मिले तो फ़ातिहा पढ़ने चले आना

दिल्ली में पिता मुर्तुज़ा हसन और माँ जमील फ़ातिमा के घर तीसरी संतान के रूप में जन्‍मे निदा फ़ाज़ली का

Read more