देश के दुश्‍मनों पर सटीक बैठती है मैक्सिकन कवि की यह कविता

मैक्सिकन कवि जोस इमिलिओ पाचेको की एक कव‍िता है “दीमकें” ज‍िसमें पाचेको ने दीमक का एक “हथ‍ियार” की तरह प्रयोग

Read more