सुशांत की हत्‍या हुई है, महाराष्ट्र सरकार किसी को बचाने की कोशिश में है: राणे

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत के मामले में लगातार राजनीति जारी है। मंगलवार को बीजेपी नेता नारायण राणे ने आरोप लगाया कि सुशांत सिंह राजपूत की हत्या हुई है और महाराष्ट्र सरकार किसी को बचाने की कोशिश कर रही है।
बीजेपी नेता नारायण राणे ने कहा है कि सुशांत सिंह राजपूत ने सुसाइड नहीं किया है। उसकी हत्या हुई है। साथ ही उन्होंने महाराष्ट्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि महाराष्ट्र सरकार केस पर ध्यान नहीं दे रही क्योंकि वो किसी को बचाने की कोशिश कर रही है।
जदयू प्रवक्ता ने भी कही थी यही बात
जनता दल यूनाइटेड प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि सुशांत की मैनेजर दिशा सालियान की मौत संदेहास्पद है लेकिन मुंबई पुलिस ने उसकी मौत पर पर्दा डाल दिया। इसके बाद मुंबई के फ्लैट में सुशांत की हत्या कर दी गई। उन्होंने कहा कि अब रिया चक्रवर्ती की भी जान खतरे में है क्योंकि वह इस मामले में इकलौती गवाह है।
सीएम नीतीश कुमार ने की सीबीआई की मांग
इस बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज मंगलवार को कहा, सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह द्वारा पटना में सुशांत सिंह राजपूत की मौत से संबंधित दर्ज कराए गए मामले की सीबीआई से जांच कराने हेतु राज्‍य सरकार ने अनुशंसा भेज दी गई है।
सीबीआई जांच की सिफारिश का हक बिहार सरकार के पास नहीं
इस पर एक्‍ट्रेस रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानशिंदे ने कहा कि बिहार सरकार अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश नहीं कर सकती है, जबकि यह मामला राज्य पुलिस के जांच के क्षेत्राधिकार के बाहर का है। इस मामले का स्थानांतरण नहीं किया जा सकता है और इसमें बिहार पुलिस को शामिल करने का कोई कानूनी आधार नहीं है। ज्यादा से ज्यादा जीरो एफआईआर दर्ज होगी जो मुंबई पुलिस को स्थानांतरित की जाएगी। ऐसे मामलों को सीबीआई को स्थानांतरित करने का कोई कानूनी आधार नहीं है, जिसमें उनका (बिहार पुलिस का) कोई अधिकार क्षेत्र नहीं हो।
बता दें कि 34 साल के सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को बांद्रा के अपने फ्लैट में फंदे से लटके मिले थे। मुंबई पुलिस ने इस बाबत दुर्घटनावश मौत की रिपोर्ट दर्ज की है और मामले की तहकीकात चल रही है। मुंबई पुलिस अबतक 56 लोगों के बयान दर्ज कर चुकी है। इनमें राजपूत की बहन, उनकी मित्र चक्रवर्ती और सिने जगत से जुड़ी कुछ हस्तियां शामिल हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *