सुशांत सिंह केस में सुप्रीम कोर्ट ने खारिज़ की सीबीआई जांच की मांग वाली याचिका

नई द‍िल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को एक जनहित याचिका खारिज कर दी जिसमें अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले को बॉम्बे पुलिस से सीबीआई को सौंपने की मांग की गई थी। मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे, जस्टिस ए एस बोपन्ना और जस्टिस वी रामासुब्रमण्यन की पीठ ने कहा कि याचिकाकर्ता अलका प्रिया का इस मामले में कोई पार्टी नहीं है और मुंबई पुलिस पहले से ही इस मामले की जांच कर रही है और उसे अपना काम करने दिया जाना चाहिए।

कोर्ट ने याचिकाकर्ता को बॉम्बे हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर करने का सुझाव दिया ताकि अगर मामले में कुछ्ह दिखाने के लिए कुछ ठोस हो तो उचित राहत मिल सके। जब याचिकाकर्ता ने कहा कि अभिनेता एक “अच्छा व्यक्ति” था और उसने जनहित की दिशा में काम किया, तो सीजेआई की अगुवाई वाली पीठ ने कहा कि यह पहलू इस प्रार्थना के लिए असंबंधित है। याचिकाकर्ता: लेकिन उन्होंने जनहित में बहुत कुछ किया है। बच्चों को नासा भेजा।

सीजेआई : “इसका इस बात से कोई लेना-देना नहीं है कि कोई व्यक्ति अच्छा था या बुरा।” 14 जून को राजपूत की असामयिक मृत्यु के बाद, अभिनेता की मौत की सीबीआई जांच का आह्वान राष्ट्रीय सुर्खियों में बना रहा है। मुंबई पुलिस द्वारा मामले की जांच के बजाय एक स्वतंत्र जांच एजेंसी को मामला सौंपने के लिए बॉम्बे उच्च न्यायालय के समक्ष वकील सार्थक नायक द्वारा एक जनहित याचिका दायर की गई है। इसके अलावा, सुब्रमण्यम स्वामी ने भी अभिनेता की मौत की सीबीआई जांच की मांग की।

इसके अलावा सुशांत के पिता ने सुप्रीम कोर्ट में कैविएट अर्जी दाखिल कर अनुरोध किया है कि बॉलीवुड अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती की ट्रांसफर याचिका पर आदेश जारी करने से पहले उनका पक्ष भी सुना जाए। वरिष्ठ वकील विकास सिंह की देखरेख में एडवोकेट ऑन रिकॉर्ड नितिन सलूजा ने गुरुवार को ये कैविएट दाखिल की है। विकास सिंह के अनुसार वो सुशांत के पिता कृष्ण किशोर सिंह की ओर से मामले की जांच पटना हाईकोर्ट की निगरानी में कराने की मांग करेंगे।

दरअसल बुधवार को बॉलीवुड अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने सुशांत सिंह राजपूत के पिता के आरोपों पर बिहार पुलिस द्वारा दर्ज FIR को पटना से मुंबई स्थानांतरित करने और बिहार पुलिस द्वारा जांच पर रोक लगाने की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है। सुशांत के पिता ने आरोप लगाया है कि उसने उनके अभिनेता बेटे को आत्महत्या के लिए उकसाया था। दरअसल 34 साल के राजपूत को 14 जून को मुंबई में उपनगरीय बांद्रा में अपने अपार्टमेंट की छत से लटका पाया गया था और तब से मुंबई पुलिस विभिन्न कोणों को ध्यान में रखते हुए मामले की जांच कर रही है। शीर्ष अदालत में जाने के लिए रिया का ये कदम इस तथ्य को देखते हुए महत्वपूर्ण है कि बिहार पुलिस की चार सदस्यीय जांच टीम पहले से ही मुंबई में है और अभिनेत्री से पूछताछ कर सकती है क्योंकि पटना में राजपूत के पिता केके सिंह द्वारा दर्ज की गई प्राथमिकी में IPC के तहत आत्महत्या के लिए उकसाने और अमानत में ख्यानत ( क्रिमिनल ब्रीच ऑफ ट्रस्ट ) जैसे गंभीर अपराधों के आरोप शामिल हैं।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *