AMU में उपद्रव करने वाले गजवा-ए-हिंद के समर्थक: ग‍िर‍िराज सिंह

पटना। अक्सर अपने बयानों से चर्चा में रहने वाले केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के फायरब्रैंड नेता ग‍िर‍िराज सिंह ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर केरल और अ‍लीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी AMU में हो रहे प्रदर्शनों पर निशाना साधा है। उन्‍होंने कहा कि ये लोग गजवा-ए-हिंद के समर्थक हैं और उपद्रव कर रहे हैं। नागरिकता संशोधन कानून में नागरिकता देने का प्रावधान है, लेने का नहीं। उन्‍होंने बिहार और पश्चिम बंगाल समेत पूरे देश में एनआरसी लागू करने की मांग की।
बिहार के बेगूसराय से सांसद गिर‍िराज ने कहा, ‘नागरिकता संशोधन कानून में नागरिकता देने का प्रावधान है, लेने का नहीं… गजवा-ए-हिंद के समर्थक केरल अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी या अन्य जगह पर उपद्रव कर रहे हैं। यह गजवा-ए-हिंद के समर्थक हो सकते हैं, हिंदुस्तान के नहीं।’ केरल और एएमयू में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर जमकर प्रदर्शन हुआ था।
AMU में छात्रों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए परिसर की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। पुलिस ने बताया कि परिसर के आसपास पुलिस की टीमें गश्त कर रही हैं और विश्वविद्यालय के सभी द्वारों पर पुलिस बल की तैनाती की गई है। नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ महापौर को प्रदर्शन की इजाजत नहीं मिली थी और पूरे जिले में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई थीं। जिले में इंटरनेट सेवाएं गुरुवार रात 12 बजे से शुक्रवार शाम पांच बजे तक बंद कर दी गई थीं।
‘एनआरसी को बिहार में लागू किया जाना चाहिए’
गिरिराज सिंह ने कहा कि एनआरसी को बिहार और पश्चिम बंगाल समेत पूरे देश में लागू किया जाना चाहिए। गिरिराज सिंह की यह मांग ऐसे समय में आई है जब नागरिकता संशोधन कानून पर जेडीयू के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने पार्टी से इस्तीफा देने तक की पेशकश कर दी। उन्होंने शनिवार को पटना में सीएम और पार्टी सुप्रीमो नीतीश कुमार से मिलकर इस्तीफा की पेशकश की थी। हालांकि, सूत्रों के अनुसार नीतीश कुमार ने उनके इस्तीफे को अस्वीकार कर दिया। सीएम नीतीश ने प्रशांत को भरोसा दिलाया कि राज्य में NRC लागू नहीं होगा। ऐसे में गिर‍िराज सिंह की बिहार में एनआरसी लागू किए जाने की मांग से राज्य की राजनीति गरमा सकती है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *