परमाणु रणनीतिक Ballistic मिसाइल अग्नि-IV का सफल परीक्षण

नई दिल्‍ली। ओडिशा तट के डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप के एकीकृत परीक्षण रेंज के लांचपैड नंबर- 4 से रविवार को परमाणु रणनीतिक Ballistic मिसाइल अग्नि- 4 का परीक्षण किया गया। बालासोर के चांदीपुर में यह परीक्षण सुबह 8:35 बजे किया गया।

Ballistic मिसाइल अग्नि-IV की खास बातें

– परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम
– 4,000 किलोमीटर की दूरी तक का लक्ष्य भेदने में सक्षम
– सतह से सतह पर मार करने वाली इस सामरिक मिसाइल

यह परीक्षण सेना ने प्रायोगिक परीक्षण के रूप में किया। रक्षा सूत्रों ने बताया कि सतह से सतह पर मार करने वाली इस सामरिक मिसाइल का परीक्षण डॉ अब्दुल कलाम द्वीप स्थित एकीकृत परीक्षण केंद्र (आईटीआर) के लॉन्च पैड संख्या-4 से सुबह करीब 8:35 बजे किया गया।

परीक्षण को ”पूर्ण सफल करार देते हुए उन्होंने कहा कि परीक्षण के दौरान मिशन के सभी उद्देश्य प्राप्त कर लिए गए। सभी रडार, ट्रैकिंग सिस्टम और रेंज स्टेशनों ने मिसाइल के उड़ान प्रदर्शन पर निगरानी रखी, जिसे एक मोबाइल लॉन्चर से दागा गया।

अग्नि-4 मिसाइल का यह सातवां परीक्षण था। इससे पहले भारतीय सेना की सामरिक बल कमान (एसएफसी) द्वारा इसी स्थान से दो जनवरी 2018 को इसका सफल परीक्षण किया गया था।

कुछ दिनों पहले भारत ने डॉ अब्दुल कलाम द्वीप से ही परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम Ballistic मिसाइल अग्नि 5 का सफल प्रायोगिक परीक्षण किया था। यह मिसाइल 5,000 किलोमीटर की दूरी तक लक्ष्य भेद सकने में सक्षम है। रक्षा सूत्रों ने बताया कि सतह से सतह पर मार करने वाली, स्वदेश में विकसित इस मिसाइल का यह सातवां परीक्षण है।

अग्नि 5 की खास बातें
– अग्नि 5 तीन चरणों में मार करने वाली मिसाइल है।
– ये 17 मीटर लंबी, दो मीटर चौड़ी है।
– 1.5 टन तक के परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है।

– इस श्रृंखला की अन्य मिसाइलों के उलट अग्नि 5 मार्ग एवं दिशा-निर्देशन, विस्फोटक ले जाने वाले शीर्ष हिस्से और इंजन के लिहाज से सबसे उन्नत है।

-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *