KD हाॅस्पिटल में शिशु की bile duct का सफल ऑपरेशन

मथुरा। KD मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के विशेषज्ञ शिशु शल्य चिकित्सक श्याम बिहारी शर्मा ने छाता निवासी हेमन्त शर्मा के दो माह के बच्चे की bile duct में हुई गांठ का सफल ऑपरेशन कर उसे नई जिन्दगी प्रदान की है। अब बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ है। अब वह सामान्य रूप से मल त्याग रहा है तथा मां का दूध भी पी रहा है।

ज्ञातव्य है कि छाता (मथुरा) निवासी हेमन्त शर्मा ने अपने दो माह के बच्चे की परेशानी को देखते हुए उसे जयपुर के जेकेलोन अस्पताल में भर्ती करवाया। बच्चे का यकृत (लीवर) बढ़ा हुआ था तथा उसका मल मिट्टी के रंग का भूरा था। इतना ही नहीं, उसकी आंखें भी पीली हो चुकी थीं। जेकेलोन अस्पताल के डाक्टरों ने बच्चे को कोलीडोकल सिस्ट बताया तथा हेमन्त को KD हाॅस्पिटल में कार्यरत डाॅ. श्याम बिहारी शर्मा से शिशु का ऑपरेशन कराने की सलाह दी। अब तक हजारों बच्चों की जटिल सर्जरी कर चुके शिशु शल्य चिकित्सक श्याम बिहारी शर्मा पूर्व में जयपुर के जेकेलोन हास्पिटल में पीडियाट्रिक सर्जरी के विभागाध्यक्ष पद पर भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

जयपुर के डाक्टरों की सलाह पर अमल करते हुए हेमन्त शर्मा बच्चे को लेकर डाॅ. श्याम बिहारी शर्मा से मिले। डा. शर्मा द्वारा बच्चे की आवश्यक जांचें कराने के बाद 19 नवम्बर को उसके आपरेशन का निर्णय लिया गया। लगभग चार घण्टे के अथक प्रयासों के बाद बच्चे की पित्तवाहिनी नली की गांठ को निकाल कर छोटी आंत से ट्यूब बनाकर लीवर से जोड़ा गया। शिशु के आपरेशन में डाॅ. श्याम बिहारी शर्मा का सहयोग डाॅ. आशुतोष सिंह, डाॅ. विक्रम यादव, डाॅ. प्रियंका तिवारी, निश्चेतना विशेषज्ञ डाॅ. नवीन तथा टेक्नीशियन पवन शर्मा आदि ने दिया। डाॅ. श्याम बिहारी शर्मा का कहना है कि मेडिकल भाषा में इस बीमारी को बिलीयरी एट्रीसिया विद कोलीडोकल सिस्ट कहते हैं जो बहुत ही घातक एवं कम पाई जाने वाली बीमारी है।

RK एजुकेशन हब के अध्यक्ष डाॅ. रामकिशोर अग्रवाल, चेयरमैन मनोज अग्रवाल और काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. रामकुमार अशोका ने शिशु की सफल सर्जरी के लिए डाक्टरों की टीम को बधाई दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *