Vikas group आफ इंडस्ट्रीज से जुड़ेंगे संस्कृति यूनिवर्सिटी के छात्र

मथुरा। आज शुक्रवार को आटोमोबाइल सेक्टर की ख्यातिनाम कम्पनी Vikas group आफ इंडस्ट्रीज, फरीदाबाद के कैम्पस प्लेसमेंट में संस्कृति यूनिवर्सिटी के 45 छात्रों ने अपनी बौद्धिक और तार्किक क्षमता से शानदार सफलता हासिल की।

Vikas group आफ इंडस्ट्रीज के कैम्पस प्लेसमेंट में डिप्लोमा इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग और मैकेनिकल इंजीनियरिंग के अंतिम साल के छात्रों ने सहभागिता की। छात्रों की बौद्धिक क्षमता को परखने से पूर्व विकास ग्रुप के एच.आर. हेड गजेन्द्र सिंह ने छात्रों को कम्पनी के कामकाज और उसकी उपलब्धियों की जानकारी देते हुए बताया कि इस समय विकास ग्रुप आफ इंडस्ट्रीज की महाराष्ट्र, गुजरात, हरियाणा तथा राजस्थान के विभिन्न शहरों में दर्जनों कम्पनियां मारुति, लीलेण्ड आदि वाहनों के कल-पुर्जों का निर्माण कर रही हैं। विकास ग्रुप आफ इंडस्ट्रीज का कई विदेशी कम्पनियों से भी अनुबंध है। अब तक दर्जनों अवार्ड हासिल कर चुके विकास ग्रुप आफ इंडस्ट्रीज का 2022 तक तीन हजार करोड़ रुपये टर्नओवर का लक्ष्य है।

साक्षात्कार से पहले छात्रों की ऑनलाइन परीक्षा ली गई। ऑनलाइन परीक्षा में सफलता हासिल करने के बाद छात्रों को साक्षात्कार के दौर से गुजरना पड़ा। छात्रों का साक्षात्कार एच.आर. हेड गजेन्द्र सिंह और मैनेजर प्रोडक्शन विपिन कुमार शर्मा द्वारा लिया गया। साक्षात्कार में संस्कृति यूनिवर्सिटी के छात्रों ने अपनी बौद्धिक और तार्किक क्षमता से कम्पनी पदाधिकारियों को न केवल प्रभावित किया बल्कि सेवा का अवसर भी हासिल किया। 45 छात्रों की शानदार सफलता पर खुशी जताते हुए कुलाधिपति सचिन गुप्ता ने कहा कि संस्कृति यूनिवर्सिटी में तकनीकी क्षेत्र की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए युवा पीढ़ी को तालीम दी जा रही है।

उप-कुलाधिपति राजेश गुप्ता का कहना है कि संस्कृति यूनिवर्सिटी में तकनीकी शिक्षा की उच्चतम व्यवस्थाएं होने के चलते ही यहां के छात्र-छात्राएं बड़ी-बड़ी कम्पनियों में उच्च पैकेज पर जॉब हासिल कर रहे हैं। कुलपति डा. राणा सिंह, कार्यकारी निदेशक पी.सी. छाबड़ा, ओ.एस.डी. मीनाक्षी शर्मा, हेड कार्पोरेट रिलेशन आर.के. शर्मा, मैनेजर कार्पोरेट रिलेशन तान्या उपाध्याय, विभागाध्यक्ष इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विनय आनंद, असिस्टेंट प्रो. ऋतिक चतुर्वेदी आदि ने चयनित छात्रों को बधाई देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *