राजीव एकेडमी में रंगारंग कार्यक्रमों से दी एमबीए के छात्रों को Farewell

दीपिका शर्मा को Miss Farewell, पुलकित को Mr. Farewell और मिस्टर एमबीए विशाल खण्डेलवाल तथा निकिता सक्सैना को मिस एमबीए के खिताब से नवाजा

 

मथुरा। राजीव एकेडमी फोर टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट के एमबीए के जूनियर छात्र-छात्राओं ने फाइनल ईयर के छात्र-छात्राओं को लोकगीत, कविता लोकनृत्य और पंजाबी भांगड़ा जैसे रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजन कर Farewell Party के माध्यम से विदाई दी। रंगारंग कार्यक्रमों के बीच दीपिका शर्मा को मिस फेयरवेल और पुलकित को मिस्टर फेयरवेल का ताज पहनाया गया। मिस्टर एमबीए विशाल खण्डेलवाल तथा निकिता सक्सैना को मिस एमबीए के खिताब से नवाजा गया। कार्यक्रम के दौरान सीनियर स्टूडेंट्स के प्रोफेसरों से अपने जुडाव को सुनाकर भाव विभोर कर दिया।

रंगारंग कार्यक्रमों से पूर्व छात्र सुरभी मित्तल, दक्षा शर्मा ने कहा कि राजीव एकेडमी में शिक्षण की अत्याधुनिक तकनीक अपनाई जा रही है। यहां प्रतिवर्ष शिक्षण के माध्यम में नए-नए प्रयोग होने से छात्रों की न केवल पढ़ने में रुचि बढ़ती है, बल्कि परीक्षा परिणाम भी अव्वल रहते हैं। कार्यक्रम संयोजक छात्रा पूजा राजपूत ने कहा कि शिक्षण के मामले में राजीव एकेडमी की समूचे उत्तर प्रदेश में ख्याति बनी हुई है। छात्रा गरिमा अग्रवाल ने कहा कि प्रसन्नता की बात है कि हम ऐसे शिक्षण संस्थान के छात्र हैं, जो अब विदेशी कम्पनियों के समूह में भी लोकप्रिय होता जा रहा है।

एमबीए के विदाई लेने वाले समस्त छात्र-छात्राओं ने कार्यक्रम के मंच से समस्त जूनियर से कड़ी मेहनत और लगन से पढ़ाई करने को कहा। उन्होंने कहा कि छात्र-छात्राएं राजीव एकेडमी में गैस्ट लेक्चर तथा समय-समय पर कारपोरेट जगत की प्रसिद्ध हस्तियों द्वारा दिए गए व्यावसायिक दिशा-निर्देशों को भी हृदयांगम करें। इससे उन्हें औद्योगिक पेचीदगियों की सही जानकारी होे सके।

कार्यक्रम में अक्षित अग्रवाल, राधा शर्मा, परिचय देशवाल आदि की प्रस्तुतियां सराहनीय रहीं। अनुराधा ने पंजाबी भांगडा करके खूब तालियां बटोरीं। नवल तथा दक्षा ने जोरदार फोक डांस किया, वैशाली ने काव्य पाठ किया, योगेश ने शायरी प्रस्तुत की।

इस अवसर पर आर.के. एज्युकेशन हब के चेयरमेन डॉ. रामकिशोर अग्रवाल ने कहा कि उच्च शिक्षा के साथ-साथ छात्र-छात्राओं को अच्छी प्रकार से व्यावसायिक और व्यावहारिक बनना चाहिए। जो कि वर्तमान समय की आवश्यकता है। आज प्रबंधन कोर्स प्रत्येक सरकारी और गैर सरकारी संगठन की रीढ़ की हड्डी हैं। छात्र-छात्राएं राजीव एकेडमी में आकर वह सब कुछ सीखते हैं, जो उनके जीवन की महत्वपूर्ण कड़ी है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि एमबीए के सभी छात्र-छात्राएं विश्वविद्यालय की परीक्षा में शत-प्रतिशत अंकों के साथ उत्तीर्ण होंगे।

वाइस चेयरमेन पंकज अग्रवाल ने कहा कि वर्तमान प्रतिस्पर्धात्मक समय में राजीव एकेडमी के छात्र-छात्राओं को चुनौतियों का सामना करते हुए आगे बढ़ते रहना है, ताकि अभिभावकों को भी संतुष्टि मिले। अभिभावकों के पाल्य भविष्य के स्वर्णिम पायदान पर चढ़ सकें। वे अपने माता-पिता और कालेज का नाम रोशन कर सकें।

संस्थान के एम.डी. मनोज अग्रवाल ने कहा कि जीवन में शिक्षा के साथ-साथ अनुशासन भी आवश्यक होता है, जिसे छात्र हल्के में न लें। जो छात्र-छात्रा महाविद्यालय के शिक्षण के साथ- साथ अनुशासन का पालन करते हैं। उन्हें बड़ी से बड़ी सफलताएं मिलती हैं।

संस्थान के निदेशक डाॅ. अमर कुमार सक्सैना ने कहा कि जीवन, ज्ञान प्राप्ति हेतु एक पाठशाला ही है, जहंा प्रतिक्षण हम नित नए अनुभव लेते रहते हैं। कोई भी छात्र-छात्रा ये न सोचे कि राजीव एकेडमी से उसकी विदाई हो गई, बल्कि सभी छात्र इस संस्था के सदस्य हैं। एमबीए करके वे जीवन के बड़े लक्ष्य की प्राप्ति के लिए ज्ञान की शाश्वत पाठशाला में प्रवेश कर रहे हैं। यह संस्था उनको जीवन भर मार्गदर्शन देती रहेगी। उन्हांेने कहा कि सभी छात्र-छात्राएं यहां से एक्सपोजर लेकर अपना ज्ञान बढ़ाएं। परीक्षाओं में उच्च प्रतिशत से उत्तीर्ण होकर विश्व कारपोरट जगत में राजीव एकेडमी का नाम रोशन करें।

Farewell के इस अवसर पर विभागाध्यक्ष डॉ. विकास जैन, डॉ. रमन चावला. संजीव सारस्वत, अखिलेश गौड, पवन अग्रवाल, अनुराग जैन, प्रशान्त पाठक आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *