छात्र e-commerce में दक्षता हासिल कर सपनों को करें साकार

मथुरा। राजीव एकेडमी फाॅर टेक्नोलाॅजी एण्ड मैनेजमें के बी-ईकाम विभाग द्वारा e-commerce अपार्च्‍युनिटी लिमिटेशन टाॅपिक पर गेस्ट लेक्चर का आयोजन किया गया जिसमें गिरनार साफ्ट एजुकेशन प्राइवेट लिमिटेड के अधिकारी लोकेश भूषण ने कहा कि e-commerce छात्र-छात्राओं के करियर का सबसे महत्वपूर्ण कोर्स है। छात्र-छात्राएं इस विषय में दक्षता हासिल कर अपने सपनों को साकार कर सकते हैं।

श्री भूषण ने कहा कि आज आईटी के प्रतिस्पर्धीयुग में कोई भी व्यक्ति अपने व्यवसाय को ई-कामर्स टेक्नोलाजी के प्रयोग से नई ऊंचाईयों पर ले जा सकता है। उन्होंने विद्यार्थियों को बताया कि ई-कामर्स जीवन का आवश्यक अंग बनता जा रहा है, आप भी इससे अछूते नहीं हैं। अतः प्रत्येक विद्यार्थी को इसके फायदे जानना नितांत आवश्यक है। श्री भूषण ने उदाहरण देते हुए कहा कि छोटे स्तर से कामकाज शुरू करने वाली कई कम्पनियां आज ई-कामर्स टेक्नोलाजी अपना कर बाजार में शिखर पर हैं।

श्री भूषण ने ई-कामर्स की विशेषता बताते हुए कहा कि आज विद्यार्थी कम धनराशि खर्च करके अपना स्वयं का अच्छा उद्यम स्थापित कर सकते हैं। उन्होंने ऐसी कई कम्पनियों के नाम भी गिनाए जो कम धनराशि और ई-कामर्स तकनीक के बल पर आज शीर्ष पर हैं। श्री भूषण ने कहा कि ई-कामर्स ऐसा पाठ्यक्रम है जिसके बल पर विद्यार्थी कई विभागों में जाब प्राप्त कर सकते हैं। श्री लोकेश भूषण ने विद्यार्थियों को राष्ट्रीय और बहुराष्ट्रीय कम्पनियों में चयन हेतु होने वाले साक्षात्कार में सफलता हासिल करने के टिप्स भी बताए।

आर.के. एज्यूकेशन हब के चेयरमैन डा. रामकिशोर अग्रवाल ने विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि सभी व्यावसायिक कोर्सों में ई-कामर्स सबसे अच्छा करिअर बनाता है, लिहाजा इस विषय में दक्षता हासिल कर स्वयं अपने पैरों पर खड़े होने का प्रयास करें। वाइस चेयरमैन पंकज अग्रवाल ने कहा कि प्रत्येक पाठ्यक्रम अलग-अलग दिशाओं में ज्ञान प्रदान करता है जबकि ई-कामर्स जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में उपयोगी है। प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल ने कहा कि ई-कामर्स के विद्यार्थी टेक्निकल और नान टेक्निकल दोनों ही क्षेत्रों में अपना करिअर बना सकते हैं। इससे पूर्व संस्थान के निदेशक डा. अमर कुमार सक्सेना ने अतिथि वक्ता का स्वागत करते हुए छात्र-छात्राओं को दी गई जानकारी के लिए उनका आभार व्यक्त किया।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *