Nagrota अटैक में पाकिस्तान का हाथ होने के पुख्ता सबूत, डोजियर तैयार

नई द‍िल्ली। जम्मू संभाग के Nagrota में एक ट्रक में छ‍िप कर आए आतंक‍ियों व उनके हैंडलर के पकड़े जाने के बाद यह बात न‍िश्च‍ित हो गई है क‍ि इसमें पाक‍िस्तान का पूरा पूरा हाथ है। अब कोई भी आरोपी छूट न सके इसल‍िए पाकिस्तान के खिलाफ डोजियर तैयार किया जा रहा है। इस मामले में पाकिस्तान का हाथ होने के पुख्ता सबूत जुटाए गए हैं।

Nagrota हमले में पुलिस की ओर से पकड़े गए छह आरोपियों को एनआईए ( राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण) ने अपनी गिरफ्त में ले लिया है जिनसे पूछताछ शुरू कर दी गई है।

समीर डार, सरताज मंटू, आसिफ, सोहेल लोन, जाहूर अहमद और सोहेब मंजूर पकड़े गए हैं। इन सभी के खिलाफ सीमा पार से आने वाले आतंकियों को कश्मीर पहुंचाने और उनके लिए काम करने के पुख्ता सबूत एनआईए के पास हैं। पुलिस की तरफ से बनाई गई केस डिटेल भी एनआईए को सौंप दी गई है। पुलिस ने बारीकी से हर एक पहलू पर जांच पूरी करने के बाद रिपोर्ट दी है, ताकि आरोपी किसी तरह से छूट न सकें।

बता दें कि Nagrota हमले का मुख्य हैंडलर समीर डार काफी समय से कठुआ और सांबा बॉर्डर से आतंकियों को कश्मीर ले जा रहा था। वह अब तक 20 से अधिक आतंकियों को इसी तरह से ट्रक में कश्मीर पहुंचा चुका है। इसका खुलासा पकड़े गए आतंकियों के हैंडलर समीर डार से पूछताछ में किया है।

लंबे समय से जैश के लिए काम कर रहा था समीर डार 

सूत्रों का कहना है कि समीर डार लंबे समय से जैश के लिए काम कर रहा था। समीर का भाई मंजूर डार 2016 में एक आतंकी हमले में मारा गया था। जबकि 2019 में समीर के चचेरे भाई आदिल ने पुलवामा हमले को अंजाम दिया। पुलवामा हमले में भी आदिल का समीर ने साथ दिया था।

आतंकियों का मारा जाना एक बड़ी कामयाबी है। सूत्रों के अनुसार पुलिस के पास हमले के पहले से इनपुट थे। पुलिस के खुफिया तंत्र के पास इसकी जानकारी थी कि कुछ आतंकी कठुआ जिले के बॉर्डर से घुसपैठ करने के बाद कश्मीर जाने की फिराक में हैं। तभी पुलिस ने इस हमले एक दिन पहले ही वाहनों की चेकिंग शुरू कर दी थी। कश्मीर जाने वाले अधिकतर वाहनों को रोक -रोककर तलाशी ली जा रही थी।

आतंकवादी सीमा पार बैठे अपने आकाओं से निर्देश पाते थे
मारे गए आतंकियों के पास से अत्याधुनिक हथियार बरामद हुए जिनमें अमेरिकन कोल्ट एम4 कार्बाइन, दो एके-74, तार काटने वाला कटर, साथ ही एक रेडियो सेट भी बरामद हुआ है जिसके जरिए आतंकवादी सीमा पार बैठे अपने आकाओं से निर्देश पाते थे। वहीं आतंकियों के पास से पाकिस्तान निर्मित दवाईयां और चॉकलेट भी बरामद हुई हैं। पाकिस्तान निर्मित दवाईयां और चॉकलेट मिलने से एक बार फिर साबित हो गया है कि पाकिस्तान लगातार घाटी का माहौल खराब करने की साजिश रच रहा है। इसी क्रम में वह आतंकियों की मदद करता है।

– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *