STF ने पकड़ा IPL में करोड़ों का सट्टा लगाने वाला गैंग

कानपुर। STF लखनऊ ने IPL मैच में मोबाइल एप से करोड़ों का सट्टा लगाने वाले एक बड़े गैंग का भंडाफोड़ किया है। कानपुर के पशुपति नगर से गैंग के सरगना समेत 5 और वाराणसी से तीन सटोरियों को गिरफ्तार किया गया है। कानपुर में सटोरियों के पास से 30 लाख 50 हजार रुपए, पांच लैपटॉप, तीन स्मार्ट टीवी, 30 मोबाइल फोन और 375 विदेशी मुद्रा बरामद की गई हैं।
सटोरियों के पास से दो इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स भी बरामद हुआ हैं। वाराणसी में 27 लाख 75 हजार रुपये बरामद हुए हैं।
STF एसएसपी अभिषेक सिंह ने बताया कि सरगना बर्रा दो निवासी जितेंद्र उर्फ जीतू, आशीष, सुमित, मोहित और हिमांशु को कानपुर से गिरफ्तार किया गया है जबकि अशोक सिंह, सुनील पाल और विक्की खान को वाराणसी से पकड़ा गया है। शातिरों के पास से दो लग्जरी कारें भी बरामद हुई हैं।
शातिर कानपुर, लखनऊ, फतेहपुर, वाराणसी और प्रयागराज आदि स्थानों में जगह बदलकर कारोबार करते थे। शातिरों के तार रायपुर, अजमेर, जयपुर, मुंबई, दिल्ली से लेकर दुबई तक जुड़े हुए हैं। ऑनलाइन ट्रेडिंग करने वाला सरगना जितेंद्र उर्फ जीतू शिवहरे पूरा गिरोह चला रहा था। वह दुबई में कई वर्षों तक ऑनलाइन ट्रेडिंग का काम करता था। उसका फतेहपुर में पेट्रोल पंप भी है। सट्टे के पैसे का हवाला के जरिए लेन-देन होता था।
बनारस STF के डिप्टी एसपी विनोद सिंह का कहना है कि आईपीएल में सटोरिए नए लड़कों को झांसे में लेकर सट्टे का अवैध कारोबार शुरू करते हैं। नेवादा सुंदरपुर का अजय सिंह भदौरिया कानपुर में मुख्य अभियुक्त के साथ मिलकर बनारस में सॉफ्टवेयर के जरिए सट्टा खेलवाता है। दबिश के दौरान वह वहां से भाग निकला। मुख्य बुकी जितेंद्र सिंह उर्फ जीतू को गिरफ्तार किया गया है। उसकी निशानदेही पर बनारस के तीन सटोरियों अशोक सिंह भदोरिया, सुनील पाल व विक्की खान को गिरफ्तार किया गया है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *