दाऊद तक मुंबई की हर खबर पहुंचाने वाले STD की मौत

मुंबई। ढाई दशक पहले जब मुंबई में अंडरवर्ल्ड की दहशत अपने चरम पर थी, तब छोटा शकील D Company के एक ‘पंटर’ को पत्रकार के रूप में मुंबई पुलिस मुख्यालय भेजा करता था। अंडरवर्ल्ड में उसे STD के नाम से जाना जाता है। दक्षिण मुंबई के अपने घर में दिल का दौरा पड़ने से उसकी मौत हो गई।
इस पंटर का नाम STD इसलिए पड़ा क्योंकि वह STD बूथ से दाऊद (Underworld Don Dawood Ibrahim) को मुंबई की हर खबर देता था। उन दिनों अंडरवर्ल्ड में मोबाइल कॉलिंग का प्रचलन शुरू नहीं हुआ था। विश्वस्त सूत्रों का कहना है कि इस STD की मां दाऊद की बहनों को कुरान भी पढ़ाती थी।
छोटे अखबार का ले रखा था आईकार्ड
इन सूत्रों के अनुसार ‘दाऊद के STD’ ने मुंबई के एक छोटे अखबार का आईकार्ड ले रखा था। पत्रकार को किसी संस्थान में नौकरी करने की सैलरी मिलती थी लेकिन ‘दाऊद के STD’ का दावा था कि आईकार्ड देने वाले संपादक को ही वह हर महीने 25 हजार रुपये सैलरी दिया करता था। हालांकि उसके दावे को पुलिस एविडेंस नहीं बना पाई थी।
‘STD’ उस दौर में पुलिस मुख्यालय आने वाले तमाम पत्रकारों को प्रेस रूम के बाहर चाय का ऑफर भी जरूर देता था ताकि सबसे उसकी दोस्ती रहे और फिर इन पत्रकारों के जरिए उसे टॉप पुलिस अधिकारियों के डी कंपनी के खिलाफ किए जाने वाले संभावित ऑपरेशन की खबर मिलती रहे।
एक सिपाही को शक हुआ, फिर…
ये बात अलग है कि कोई भी पत्रकार उसकी साजिश को समझ नहीं पाया। उन दिनों पुलिस प्रेस रूम में बैठने वाले एक सिपाही को शक हुआ। फिर उसके मूवमेंट्स पर नजर रखी गई और उसे गिरफ्तार भी किया गया।
कई साल तक आजाद मैदान पुलिस क्लब में जनवरी के दूसरे या तीसरे सप्ताह में पुलिस की सालाना प्रेस कॉन्फ्रेंस हुआ करती थी। छोटा शकील इस STD के जरिए उस प्रेस कॉन्फ्रेंस में दरअसल शूटआउट करवाना चाहता था, लेकिन पुलिस प्रेस रूम में बैठने वाले सिपाही ने इस STD और शकील दोनों की साजिश को फेल कर दिया था।
बाद में पुलिस का ही खबरी बन गया
उस सिपाही को अंडरवर्ल्ड के खिलाफ एक बड़े ऑपरेशन के लिए गैलंट्री अवार्ड भी मिला था। इस STD को कुछ महीने बाद बेल मिल गई। बाद में वह पुलिस का ही खबरी बन गया था और दाऊद के लोगों की जानकारियां ही पुलिस को देने लगा था।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *