एडीजी कानून-व्यवस्था के स्टाफ ऑफिसर ने किया रेस्तरां में हंगामा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश डीजीपी मुख्यालय में एडीजी कानून-व्यवस्था के स्टाफ ऑफिसर एएसपी राजेश सिंह ने गुरुवार रात एक रेस्तरां में हंगामा किया। रेस्तरां मालिक ने स्थानीय पुलिस पर भी एएसपी के साथ मिलकर तोड़फोड़ का आरोप लगाया है। रेस्तरां बीजेपी नेता का था, इसलिए वहां कार्यकर्ताओं की भीड़ जुट गई। हंगामा बढ़ता देख एएसपी और अन्य पुलिसकर्मी भाग निकले।
बीजेपी नेता त्रयम्बक तिवारी ने एएसपी के खिलाफ गोमतीनगर थाने में तहरीर दी है। वहीं गोमतीनगर इंस्पेक्टर त्रिलोकी सिंह का कहना है कि तहरीर नहीं मिली है। शिकायत मिलने पर जांच की जाएगी। बीजेपी के क्षेत्रीय महामंत्री त्रयम्बक तिवारी के छोटे भाई मयंक तिवारी का ग्वारी क्रॉसिंग के पास रेस्तरां है। मयंक का आरोप है कि गुरुवार रात करीब 8 बजे एएसपी राजेश सिंह रेस्तरां आए और काउंटर पर मौजूद कर्मचारी राहुल को थप्पड़ जड़ते हुए सीसीटीवी फुटेज दिखाने को कहा। हंगामा देख कर्मचारियों ने बीच-बचाव किया।
इस पर एएसपी ने गोमतीनगर पुलिस को फोन कर बुला लिया। आरोप है कि पुलिस ने एएसपी का साथ देते हुए तोड़फोड़ की और शटर बंद करवा दिया। घटना के कुछ देर बाद इंस्पेक्टर गोमतीनगर त्रिलोकी सिंह पहुंचे। आरोप है कि गोमतीनगर सीओ और इंस्पेक्टर रेस्तरां मालिक पर समझौता करने का दबाव बनाने लगे। सूचना पर बीजेपी नेता के सैकड़ों समर्थक पहुंच गए। लोगों की भीड़ बढ़ती देख एएसपी व पुलिसकर्मी भाग निकले।
‘नशे में थे एएसपी’
मयंक के मुताबिक वह परिवारिजनों के साथ घूमने जा रहे थे। तभी एएसपी राजेश सिंह अपनी गाड़ी में टक्कर मारने वाले शख्स की तलाश में रेस्तरां में लगे सीसीटीवी कैमरे चेक करने आए थे। नशे में धुत होकर एएसपी ने अभद्रता की।
एसएसपी को फोन कर विवेक हत्याकांड की याद दिलाई
त्रयम्बक तिवारी ने एसएसपी कलानिधि नैथानी के सीयूजी नम्बर पर फोन कर घटना की जानकारी दी। उन्होंने एसएसपी से कहा कि आपकी पुलिस विवेक तिवारी को गोली मार सकती है तो आशंका है यहां भी गोली मारकर हमारी हत्या कर सकती है।
इन पुलिस वालों ने भी की मारापीटी
त्रयम्बक तिवारी का आरोप है कि गोमतीनगर थाने में तैनात एसआई अमरनाथ सिंह यादव और एसआई राजवीर सिंह ने रेस्तरां कर्मचारियों को पीटा और जेल में डालने की धमकी भी दी। आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने रेस्तरां में ग्राहकों से भी अभद्रता की। चाय पी रहे केजीएमयू के डॉ. शिवम को रेस्तरां का कर्मचारी समझकर पुलिस ने जीप में बैठा लिया।
इस मामले में एसएसपी कलानिधि नैथानी ने कहा कि मामला मेरी जानकारी में है। जांच की जाएगी, अगर एएसपी इस मामले में दोषी पाए गए तो उन पर कार्यवाही की जाएगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *