उत्तराखंड, एमपी में भी एकसाथ लोकसभा चुनाव लड़ेगी SP-BSP

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सीट बंटवारे के बाद अब मध्यप्रदेश में भी SP-BSP मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। प्रदेश में कुल 29 लोकसभा सीट हैं। मायावती की बहुजन समाज पार्टी और अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी ने आनेवाले लोकसभा चुनाव को लेकर सोमवार को उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश और उत्तराखंड में भी एक साथ चुनावी मैदान में उतरने का निर्णय किया है।

29 में से 3 सीटों पर समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार खड़े होंगे जबकि 26 सीटों पर बहुजन समाज पार्टी चुनाव लड़ेगी। समाजवादी पार्टी बालाघाट, टीकमगढ़ और खजुराहो सीट पर चुनाव लड़ेगी।

साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में बसपा को 3.79 फीसदी वोट मिले थे। वहीं सपा को 0.74 फीसदी मतों से संतोष करना पड़ा। 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में बसपा का वोट शेयर 3.79 से बढ़कर 5 फीसदी हो चुका है।

समाजवादी पार्टी मध्य प्रदेश की कुल 29 सीटों में से 3 लोकसभा सीट पर अपना उम्मीदवार उतारेगी जबकि बाकी बची 26 सीटों पर बीएसपी के प्रत्याशी होंगे।

सपा के समीकरण
सपा को बालाघाट, टीकमगढ़ और खजुराहो की जो तीन सीटें दी गई हैं, वहां उसका ठीकठाक जनाधार माना जा रहा है। 2014 लोकसभा चुनाव में बालाघाट और टीकमगढ़ में सपा को बसपा के मुकाबले दोगुने वोट मिले थे। वहीं खजुराहो में दोनों आसपास रहे थे।

उत्तर प्रदेश में पहले ही सीटों का बंटवारा
देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में दोनों दल पहले ही सीटों का बंटवारा घोषित कर चुके हैं। यूपी की 80 लोकसभा सीटों में से सपा 37 तो बसपा 38 सीटों पर लड़ेगी। 3 सीटें अजित सिंह की रालोद के लिए छोड़ी गई है। अमेठी और रायबरेली की सीट कांग्रेस के लिए छोड़ दी गई है।

जबकि, उत्तराखंड की 5 लोकसभा सीट में एसपी एक और बीएसपी तीन सीट पर चुनाव लड़ेगी। इस बात की जानकारी अखिलेश और मायावती की तरफ से जारी संयुक्त बयान में दी गई है।

उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा में सीटों की घोषणा के करीब हफ्ते भर बाद मध्य प्रदेश और उत्तराखंड में सीट बंटवारे की खबर आई है। यूपी में बीएसीप 38 सीटों पर चुनाव लड़ेगी जबकि सपा 37 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी।

-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *