कुछ लोग मुझे सुबह-शाम लोकतंत्र का पाठ पढ़ाते हैं और अपशब्‍दों का प्रयोग करते हैं, आज मैं उन्‍हें आइना दिखाना चाहता हूं: पीएम मोदी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के लोगों के लिए आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना सेहत स्कीम की लॉन्चिंग पर पीएम मोदी ने बिना नाम लिए कांग्रेस नेता राहुल गाँधी पर निशाना साधा है। इसी हफ़्ते राहुल गाँधी ने कृषि क़ानून का विरोध करते हुए कहा था कि भारत में लोकतंत्र अब कल्पनाओं में बचा है।
नरेंद्र मोदी ने कहा, ”जम्मू कश्मीर ने तो यूटी (केंद्र शासित प्रदेश) बनने के एक साल भीतर तीनों स्तर पर पंचायत का चुनाव करा दिया। दिल्ली में कुछ लोग, सुबह शाम आए दिन मोदी को कोसते रहते हैं, टोकते रहते हैं, अपशब्दों का प्रयोग करते रहते हैं. आए दिन मुझे लोकतंत्र सिखाने के लिए रोज़ नए-नए पाठ बताते रहते हैं. मैं उन लोगों को ज़रा आज आईना दिखाना चाहता हूं।”
”जम्मू-कश्मीर यूटी बनने के इतने कम समय में तीन स्तर के पंचायती राज को लागू कर दिया. दूसरी ओर पुडुचेरी में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद पंचायत और नगर निकाय के चुनाव नहीं हो रहे हैं। जो मुझे यहाँ लोकतंत्र के पाठ पढ़ाते हैं उसी की पार्टी वहाँ राज कर रही है। सुप्रीम कोर्ट ने 2018 में ही चुनाव के लिए आदेश दिया था लेकिन अब तक वहां चुनाव नहीं हुआ है। 2006 के बाद यहाँ चुनाव नहीं हुआ है। कुछ राजनीतिक दलों की कथनी और करनी में कितना फ़र्क़ है इस बात से भी पता चलता है।”
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर को बड़ी सौगात देते हुए आयुष्मान भारत ‘पीएम-जय सेहत’ योजना लॉन्च की। इस दौरान उन्होंने योजना के दो लाभार्थियों से बात भी की। इसी के साथ पीएम मोदी ने डीडीसी चुनाव का जिक्र करते हुए कांग्रेस पर तंज कसा। उन्‍होंने कहा कि कुछ लोग दिल्ली में कोसते रहते हैं। जम्मू-कश्मीर के लोगों ने लोकतंत्र के लिए वोट किया।
डीडीसी चुनाव पर पीएम मोदी ने कहा, ‘मैं जम्मू-कश्मीर के लोगों को लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए भी बधाई देता हूं। डीडीसी के चुनाव ने एक नया अध्याय लिखा है।’ उन्होंने आगे कहा, ‘जम्मू कश्मीर के हर वोटर के चेहरे पर मुझे विकास के लिए, डेवलपमेंट के लिए एक उम्मीद नजर आई, उमंग नजर आई। जम्मू कश्मीर के हर वोटर की आंखों में मैंने अतीत को पीछे छोड़ते हुए, बेहतर भविष्य का विश्वास देखा।’
‘कुछ लोग मोदी को लोकतंत्र का पाठ पढ़ाते हैं’
पीएम मोदी ने कहा, ‘दिल्ली में आज कल कुछ लोग मोदी को कोसते रहते हैं, मोदी को लोकतंत्र का पाठ पढ़ाने में लगे हैं। इन चुनावों में जम्मू-कश्मीर के लोगों ने लोकतंत्र की जड़ों को और मजबूत किया है। जम्मू-कश्मीर के प्रशासन और सुरक्षाबलों ने जिस प्रकार से चुनाव का संचालन किया और सभी दलों की तरफ से ये चुनाव बहुत ही परदर्शी हुए।’
‘पुडुचेरी में कितने साल से पंचायत चुनाव नहीं हुए’
कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘कुछ राजनीतिक दलों की कथनी और करनी में कितना बड़ा फर्क है, लोकतंत्र के प्रति वो कितना गंभीर है इस बात से ही पता चलता है। कितने साल हो गए, पुडुचेरी में पंचायत चुनाव नहीं होने दिए जा रहे हैं।’
‘सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद सरकार टाल रही’
पीएम मोदी बोले, ‘आप हैरान होंगे कि सुप्रीम कोर्ट ने 2018 में ये आदेश दिया था लेकिन वहां जो सरकार है, इस मामले को लगातार टाल रही है। पुडुचेरी में दशकों के इंतजार के बाद साल 2006 में स्थानीय निकाय चुनाव हुए थे। इन चुनावों में जो चुने गए उनका कार्यकाल साल 2011 में ही खत्म हो चुका है।’
‘आयुष्मान भारत’ पर क्या बोले पीएम मोदी
आयुष्मान भारत को लॉन्च कर पीएम मोदी बोले, ‘इस स्कीम का एक और लाभ होगा जिसका जिक्र बार-बार किया जाना जरूरी है। आपका इलाज सिर्फ जम्मू कश्मीर के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों तक सीमित नहीं रहेगा बल्कि देश में इस योजना के तहत जो हजारों अस्पताल जुड़े हैं, वहां भी ये सुविधा आपको मिल पाएगी।
पीएम मोदी ने बताया, ‘बीते दो सालों में डेढ़ करोड़ से ज्यादा गरीबों ने आयुष्मान भारत योजना का लाभ उठाया है। इससे जम्मू-कश्मीर के लोगों को भी मुश्किल समय में बहुत राहत मिली है। यहां के करीब 1 लाख गरीब मरीजों का अस्पताल में 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज किया गया है।’
योजना के लाभार्थियों से पीएम मोदी ने की बात
पीएम मोदी ने योजना के लाभार्थियों से भी बात की। जम्मू से रमेश लाल ने बताया, ‘मेरे परिवार के सभी 5 सदस्यों का आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड है। हम सभी इस स्कीम के लिए पीएम मोदी के आभारी हैं। अगर मेरे पास यह कार्ड नहीं होता तो कैंसर का इलाज करा पाना बेहद मुश्किल होता।’ रमेश कैंसर के मरीज हैं। पीएम मोदी ने कहा, आयुष्मान भारत ने आपका जीवन आयुष्मान बना दिया है। मैं आपसे अपील करता हूं कि दूसरे को इस स्कीम और इसके फायदे के बारे में बताएं।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *