यमुनापार क्षेत्र में कचरा निस्तारण को चला Signature campaign

मथुरा। यमुनापार क्षेत्र में कचरा निस्तारण को Signature campaign चलाया गया।

प्रधानमंत्री मोदी जी के बहुप्रचारित “स्वच्छ भारत अभियान” के विज्ञापनों में दिखती साफ-सफाई और उन्नति के ठीक विपरीत मथुरा के यमुनापार इलाके, खास कर शहज़ादपुर सोनी टप्पा क्षेत्र की जनता एक जानलेवा संकट का सामना कर रही है।
दरअसल शहर भर का कचरा पिछले कई वर्षों से यमुना पार के इस इलाके में ठूँस कर जला दिया जा रहा है। इस कचरे से उत्पन्न धुँआ आसपास के कई किलोमीटर क्षेत्र की हवा को जहरीला बना कर साँस के साथ बच्चों, बूढ़ों सहित हर क्षेत्रीय निवासी के शरीर में भर कर दमा और कैंसर जैसी भयानक जानलेवा बीमारियों की बुनियाद बना रहा है। प्रदूषण जनित बीमारियों से कई स्थानीय निवासी पीड़ित हैं तो कई असमय अपनी जान गँवा बैठे हैं।

इन समस्याओं को ले कर कई बार स्थानीय निवासियों ने प्रशासन तक अपनी बात पहुँचाई है मगर कुछ दिनों तक धुँआ बंद रहने के बाद अब स्थिति लगातार खतरनाक होती चली जा रही है।
नगर पालिका परिषद् की पूर्व अध्यक्षा श्रीमती मनीषा गुप्ता जी के कार्यकाल की शुरुआत में ही ‘‘मथुरा वेस्ट प्रॉसेसिंग लिमिटेड’’ नामक कंपनी को यह ठेका दिया गया कि वो हर वार्ड से घर-घर से रि्क्शे द्वारा कचरा इकठ्ठा करेगी तथा उसे यमुनापार इलाके में आवंटित जगह पर ला कर उस से खाद, बिजली, ईंटें आदि बनाएगी। इसी के चलते तब शहर भर से जेनर्म योजना के तहत लाए गए सैंकड़ों कूड़ेदान उठवा लिए गए थे, जो अब न जाने कहाँ बेच दिए गए होंगे। इस कंपनी का कचरा कलैक्शन भी कुछ सीमित इलाकों में कुछ दिन चला और फिर जो कुछ हुआ उसे अब तक यमुनापार वासी भोग रहे हैं।

इस संबंध में आज इंकलाबी नौजवान सभा ने एक जन-जागरुकता अभियान शुरु किया जिसके तहत सैंकड़ों लोगों के बीच सरकार और प्रशासन के लिए लिखे गए माँग पत्र पर हस्ताक्षर करवाए गए तथा उनसे उनकी राय ली गई।
जनता के जरिए इंकलाबी नौजवान सभा ने माँग की है कि-

1- ‘‘स्वच्छता अभियान’’ का विज्ञापन करने की बजाय मथुरा के ठोस कचरे को घर-घर से इकट्ठा करने, रिसाइकिल
करने और उसके उचित प्रबंधन की प्रक्रिया सरकारी नियंत्रण में तुरंत शुरु की जाए।

*2- रिसाइकिलिंग प्लान्ट को यमुनापार के आबादी क्षेत्र से दूर कहीं निर्जन स्थान पर स्थानांतरित किया जाए।
3- इस पूरी प्रक्रिया में मथुरा, खास कर यमुनापार क्षेत्र के नौजवानों को सम्मानजनक रोजगार देने की गारंटी की
जाए।
संगठन के जिला संयोजक सौरभ इंसान ने कहा कि या तो इस अव्यवस्था की खबर सरकार तक पहुँच नहीं रही, या फिर सरकार इस मुद्दे पर गंभीरता से काम नहीं कर रही। दोनों ही स्थिति में यह जिम्मेदारी सरकार की ही है और इसका अहसास सरकार को करवाने व इस समस्या को हल करवाने के लिए हमारा संगठन हर स्तर पर प्रयास करेगा।
आज के कार्यक्रम में विपिन शर्मा, मदन, संदीप, सुल्तान खान, योगेश इंसान, करन सारस्वत आदि का विशेष सहयोग रहा।