श्रीकृष्ण-जन्मस्थान की रज व यमुनाजल अयोध्या रवाना

मथुरा। श्रीकृष्ण-जन्मस्थान गर्भ-गृह वाटिका की रज और यमुनाजल को लेकर श्रीकृष्ण-जन्मस्थान सेवा-संस्थान के सदस्य गोपेश्वरनाथ चतुर्वेदी आज प्रातः 7 बजे श्री अयोध्या जी के लिए प्रस्थान किया। साथ में संस्थान के विशेष कार्याधिकारी विजय बहादुर सिंह व अतुल चतुर्वेदी भी गये हैं।

इस संबंध में जानकारी देते हुऐ श्रीकृष्ण-जन्मस्थान सेवा-संस्थान के सचिव कपिल शर्मा ने बताया कि श्रीराम जन्मभूमि आन्दोलन में श्रीकृष्ण-जन्मस्थान का महत्वपूर्ण स्थान रहा है। श्रीकृष्ण-जन्मभूमि न्यास से जुड़े ब्रह्मलीन श्रद्धेय संत वामदेव जी महाराज, नित्यलीलालीन भाई श्री हनुमान प्रसाद जी पोद्दार, गौलोकवासी श्री विष्णुहरि जी डालमिया का योगदान अविस्मरणीय एवं विश‍िष्ट रहा है। 1983 में विराट हिन्दू सम्मेलन कर जो सनातन परंपराओं की रक्षा के संकल्प श्रीकृष्ण-जन्मभूमि पर लिये गये वह भी इस आन्दोलन की बुनियाद बने।

वर्तमान में श्रीकृष्ण जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष पूज्य महन्त श्रीनृत्यगोपाल दास जी महाराज ने राम जन्मभूमि निर्माण के लिए चलाये गये सभी आन्दोलनों एवं योजनाओं में अपना संपूर्ण योगदान दिया है एवं आज पूज्य महन्त श्रीनृत्यगोपाल दास जी महाराज श्रीकृष्ण जन्मभूमि न्यास एवं श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास दोनों के ही अध्यक्ष पद पर सुशोभित हैं।
इस अवसर पर श्रीकृष्ण जन्मभूमि की रज एवं यमुनाजल प्रस्थान यात्रा के लिए उपस्थित संतगण, संस्थान कर्मियों एवं स्थानीय भक्तों ने परमपूज्य संत वामदेव जी महाराज, गौलोकवासी श्रीहनुमान प्रसाद पोद्दार भाई जी, नित्यलीलालीन श्रीविष्णुहरि जी डालमिया, गौलोकवासी अशोक सिंघल जी, गौलोकवासी आचार्य गिर्राज किशोर जी सहित इस राम जन्मभूमि आन्दोलन में समर्पित सभी सन्तों एवं भक्तों को भावमय स्मरण करते हुऐ मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम एवं लीला पुरुषोत्तम भगवान श्रीकृष्ण के जयघोष किये गये।

कल 05 अगस्त को श्री अयोध्या धाम में होने वाले भव्य श्रीराम मंदिर श‍िलान्यास कार्यक्रम की अलौकिक घड़ी के आगमन से सनातन धर्मावलम्बियों को अपार परमानन्द की प्राप्ति हो रही है।
लीलापुरुषोत्तम भगवान श्रीकृष्ण की जन्मभूमि पर इस अद्भुद, दिव्य एवं विलक्षण अवसर पर तीन दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान की श्रृंखला में आज श्रीकृष्ण-जन्मस्थान पर विराजमान अन्नपूर्णेष्वर महादेव के दिव्य श‍िवलिंग के सन्मुख अखण्ड श्रीरामचरित मानस का पाठ प्रारम्भ हो गया है।

इस अखण्ड पाठ का विश्राम कल दि0 05अगस्त को अभिजीत महूर्त में दोपहर 11ः15 बजे किया जायेगा। श्रीराम जन्मभूमि श‍िलान्यास के पुण्य अवसर को अविस्मरणीय बनाने के लिए श्रीकृष्ण-जन्मस्थान में भव्य विद्युत सजावट की जा रही है। श्रीराम जन्मभूमि श‍िलान्यास के समय दोपहर 12ः15 बजे ठाकुरजी की दिव्य आरती होगी। आरती के समय संपूर्ण मंदिर परिसर में ढोल-नगाड़े, घण्टे-घड़ियाल, मृदंग-झांझ, मजीरे की मधुर ध्वनि से गुंजायमान हो उठेगा। बुधवार की सायं 7ः00 बजे से श्रीकृष्ण-जन्मस्थान परिसर में भव्य दीपदान का भी आयोजन किया जा रहा है। इसके लिए हजारों दीप मंदिर प्रांगण में अर्पित किये जायेंगे।

  • Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *