मध्य प्रदेश के विदिशा से सामने आई दिल दहलाने वाली घटना

भोपाल। मध्य प्रदेश के विदिशा जिले में दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। यहां एक महिला के साथ उसके पति के दोस्तों ने गैंगरेप किया और विरोध करने पर पति की गला घोंटकर हत्या कर दी।
इस घटना का सबसे शर्मनाक पहलू यह है कि पीड़िता को अपने पति के शव का पोस्टमॉर्टम और खुद का मेडिकल परीक्षण कराने के लिए एक हेल्थ सेंटर से दूसरे हेल्थ सेंटर के चक्कर काटने पड़े। इस दौरान पीड़िता को 100 किलोमीटर से ज्यादा का सफर तय करना पड़ा क्योंकि पोस्टमॉर्टम के लिए हेल्थ सेंटर पर डॉक्टर ही मौजूद नहीं थे।
दो पीएचसी, 62 किमी सफर, डॉक्टर नदारद
मंगलवार को पुलिस पीड़िता के लिए अपनी गाड़ी लेकर आई और पति का शव ले जाने के लिए ट्रैक्टर-ट्रॉली की व्यवस्था की। पुलिस पीड़िता को सुबह करीब 9 बजे उसके घर से लेकर लातेरी गई। 34 किमी तक यात्रा करने के बाद महिला को पुलिस एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) लेकर पहुंची, जहां कोई डॉक्टर नहीं था। पुलिस इसके बाद महिला को 28 किमी दूर सिरोंज स्थित पीएचसी लेकर गई जहां दो घंटे तक इंतजार करने के बाद भी डॉक्टर नहीं मिला।
मेडिकल जांच के लिए फिर 80 किमी आना पड़ा
इसके बाद उन्हें लटेरी पीएसची से कॉल आया कि डॉक्टर यहां आ गए हैं। पुलिस पीड़िता और शव को लेकर लटेरी आ गई जहां शाम साढ़े पांच बजे शव का परीक्षण कराया गया। इसके बाद पीड़िता को उसके मेडिकल जांच के लिए लातेरी से 80 किमी दूर बासोदा लेकर गई। महिला की आंख और शरीर के दूसरे हिस्से में चोट के निशान थे। जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बीएस अहिरवार ने कहा, ‘जरूर कोई मिसकम्युनिकेशन हुआ होगा। मैं इस केस को लेकर निश्चित नहीं हूं, अगर लातेरी में ही उन्होंने इंतजार किया होता तो हम जरूर वहां डॉक्टर भेजते।’
पति की हत्या के बाद गैंगरेप, दोनों आरोपी गिरफ्तार
35 साल की महिला के साथ कथित रूप से दो लोगों ने गैंगरेप किया था, जिन्हें उसके पति ने आलमपुर गांव स्थित घर पर दिवाली के अगले दिन शराब पार्टी के लिए बुलाया था। शराब पीने के बाद आरोपी सुनील कुशवाहा और मनोज अहिरवार ने महिला को घर के पिछले हिस्से में खींचा। इस दौरान महिला के पति ने उसे बचाने की कोशिश की तो दोनों ने उसका गला घोंटकर हत्या कर दी और महिला के साथ बलात्कार किया। दोनों आरोपियों को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया गया और उन पर हत्या और रेप की धाराएं लगाई गई हैं।
दंपती का 12 साल का बेटा रेप और हत्या का गवाह बना जबकि दो बच्चे घटना के वक्त सो रहे थे। सब डिविजनल पुलिस अधिकारी बीएच सिसौदिया ने बताया, ‘पीएचसी में डॉक्टरों के मौजूद न रहने पर महिला मेडिकल फॉर्मेलिटी के लिए अपने पति के शव के साथ लटेरी, सिरोंज और बसोडा के बीच चक्कर लगाती रही।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *