शिवराज सरकार ने भोपाल और इंदौर में फिर से नाइट कर्फ्यू का निर्णय लिया

भोपाल। एमपी में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इस बीच शिवराज सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। शिवराज सिंह चौहान ने कैबिनेट की बैठक के बाद अधिकारियों के साथ मीटिंग की है। मीटिंग में भोपाल और इंदौर में फिर से नाइट कर्फ्यू का निर्णय लिया गया है। कोरोना के दूसरे दौर में सबसे ज्यादा भोपाल-इंदौर में ही केस मिल रहे हैं।
इसके साथ ही महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग जरूरी है। साथ ही वहां के यात्रियों के लिए सात दिन का होम क्वारंटीन जरूरी है। भोपाल-इंदौर में पहले से ज्यादा सख्ती बरती जाएगी। सीएम ने सुबह में ही कह दिया था कि आज कुछ कठोर फैसला लेंगे। सीएम ने लोगों से अपील भी की थी कि आप कोविड नियमों का पालन जरूर करें क्योंकि एमपी में लापरवाही की वजह से कोरोना के मामले बढ़े हैं। इसके साथ ही भोपाल में सभी सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक लगा दिए गए हैं।
इसके साथ ही प्रदेश के 8 शहरों जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, रतलाम, छिंदवाड़ा, बुरहानपुर, बैतूल और खरगोन में रात्रि 10 बजे के बाद बाजार बंद रहेगा। इन शहरों में कर्फ्यू जैसी स्थिति नहीं रहेगी लेकिन बाजार अनिवार्य रूप से बंद रहेगा । अगर केस बढ़े तो इन शहरों में भी नाइट कर्फ्यू लगाया जा सकता है। गौरतलब है कि एमपी में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के नए केस लगातार बढ़ रहे हैं। सोमवार को पहली बार इस साल आठ सौ मरीज मिले थे। इंदौर में 267 और भोपाल में 199 मरीज मिले थे। उसके बाद शिवराज सरकार की चिंता बढ़ गई थी।
दरअसल, कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सीएम शिवराज सिंह चौहान लगातार अधिकारियों के साथ समीक्षा कर रहे थे। इसके साथ ही सभी जिलों के कलेक्टर क्राइसिस मैनेजमेंट टीम के साथ बैठक कर रहे थे और शासन को अपनी रिपोर्ट दे रहे थे। तीन दिनों से इंदौर और भोपाल में केस कम नहीं हो रहे थे। उसी के बाद सीएम ने यह फैसला आज लिया है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *