भगत सिंह को चंद्रशेखर आजाद लिखने पर ट्रोल हुईं शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी

मुंबई। शिवसेना की राज्‍यसभा सांसद और कांग्रेस की पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी शहीद भगत सिंह के जन्मदिवस पर ट्वीट करने को लेकर जमकर ट्रोल हो रही हैं।
दरअसल, प्रियंका चतुर्वेदी ने जो ट्वीट किया उसमें तस्वीर शहीद भगत सिंह की लगाकर चंद्रशेखर आजाद के बारे में लिखा। हालांकि बाद में प्रियंका चतुर्वेदी को अपनी गलती का अहसास हुआ और उन्होंने वो ट्वीट हटा दिया। साथ ही पूरे मामले मे सफाई दी। इस दौरान वह यूपी सरकार के मीडिया सलाहकार से भिड़ गईं। दोनों के बीच ट्विटर पर जमकर बहस चल रही है।
प्रियंका चतुर्वेदी ने सोमवार सुबह ट्वीट किया, ‘दुश्मन की गोलियों का हम सामना करेंगे, आजाद ही रहे हैं आजाद ही रहेंगे- चंद्रशेखर आजाद’।
इस ट्वीट के साथ उन्होंने सबसे ऊपर शहीद भगत सिंह की तस्वीर लगाई और नीचे अपनी और कांग्रेस पार्टी का निशाना लगाया।
योगी के मीडिया सलाहकार ने कसा तंज
गलत ट्वीट करते ही प्रियंका चतुर्वेदी को ट्विटर पर यूजर्स ने जमकर ट्रोल कर दिया है। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने उनके ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, ‘शहीद भगत सिंह जी को जयंती पर नमन। शर्म की बात है कि कुछ लोग चंद्रशेखर आजाद और भगत सिंह जी में फर्क तक नहीं जानते।’
प्रियंका चतुर्वेदी ने दी ये सफाई
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार के ट्वीट का जवाब देते हुए प्रियंका चतुर्वेदी ने लिखा, ‘हाहा! ऐसी काफी गलतियां तो प्रधानमंत्री जी और मोदी जी के ट्विटर अकाउंट से भी निकल आएंगी! चलिए कोई नहीं, स्पेलिंग मास्टर, मेरे कुछ पुराने LED लाइट्स ओर भी ट्वीट्स हैं उसकी हिंदी और गणित पर भी ‘प्रकाश’ डालें!’
प्रियंका की हिंदी पर उठाए सवाल
प्रियंका चतुर्वेदी के सलमान खान को लेकर किए एक दूसरे ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने लिखा, ‘राजनीति है कोई भी घुस सकता है। पार्टी और विचारधारा को लात मारने वाले घुस सकते हैं तो पुलिसवाला क्यूं नहीं? और सीडी नहीं सीढ़ी होता है। ना गणित अच्छी ना हिंदी।’
योगी के मीडिया सलाहकार पर किया पलटवार
इस पर प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा, ‘चलिए गलत स्पेलिंग लिखी पर तीर निशाने पर लगा, आपकी तिलमिलाहट से स्पष्ट हो गया। जी हां, सबको राजनीति में आने की छूट है पर गुप्त तरीके से अपनी वर्दी और रैंक का इस्तेमाल करके राजनीतिक कैंपेन की शुरुआत करने का नहीं। PS: आपका spelling errors ढूंढने का वक़्त शुरू होता है अब! जय हिंद’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *