शिवसेना विधायक का उद्धव ठाकरे को खत, मोदी से मिल जाने में ही फायदा

मुंबई। उद्धव सरकार में खटपट के बीच शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक का एक पत्र सामने आया है। यह पत्र उन्होंने सीएम उद्धव ठाकरे को लिखा है। इसमें उन्होंने कहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी से मिल जाएंगे तो शिवसेना फायदे में रहेगी। उन्होंने गठबंधन सरकार की सहयोगी पार्टी एनसीपी पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं। यह पत्र दस दिन पुराना बताया जा रहा है।
शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक ने महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर कहा- NCP और कांग्रेस अपना खुद का सीएम चाहते हैं। कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ना चाहती है और NCP शिवसेना से नेताओं को तोड़ने की कोशिश कर रही है। ऐसा लगता है कि NCP को केंद्र से परोक्ष समर्थन प्राप्त है, क्योंकि NCP नेताओं के पीछे कोई सेंट्रल एजेंसी नहीं लगी है।
‘शिवसेना को कमजोर कर रही एनसीपी’
प्रताप सरनाईक ने पत्र में आगे कहा है- ‘हम आप पर और आपके नेतृत्व पर विश्वास करते हैं लेकिन कांग्रेस और NCP हमारी पार्टी को कमजोर करने की कोशिश कर रही है। मेरा मानना है कि अगर आप पीएम मोदी के करीब आते हैं तो बेहतर होगा… अगर हम एक बार फिर साथ आ गए तो यह पार्टी और कार्यकर्ताओं के लिए फायदेमंद होगा।’
‘केंद्रीय एजेंसियां बना रहीं निशाना’
उद्धव को लिखे पत्र में प्रताप सरनाईक ने कहा- ‘बिना किसी गलती के सेंट्रल एजेंसियां हमें निशाना बना रही हैं, अगर आप पीएम मोदी के करीब आते हैं तो रवींद्र वायकर, अनिल परब, प्रताप सरनाईक जैसे नेताओं और उनके परिवारों की पीड़ा समाप्त हो जाएगी। यह कार्यकर्ताओं की भावना है।’
‘…तो महानगर पालिका चुनाव में होगा फायदा’
शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक फिलहाल ईडी के शिंकंजे में हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा के साथ महानगर पालिका चुनाव में गठबंधन हुआ तो उसका फायदा शिवसेना को होगा।
बीजेपी ने प्रताप सरनाईक को बताया मिस्टर इंडिया
आपका बता दें कि ईडी की कार्यवाही के बाद से शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक को लेकर भाजपा की राजनीति थम नहीं रही है। शनिवार की सुबह भाजपा के पूर्व सांसद किरीट सोमैया और ठाणे शहर भाजपा अध्यक्ष, विधायक निरंजन डावखरे के नेतृत्व में ठाणे के वर्तक नगर पुलिस स्टेशन के करीब मानव शृंखला बनाई। इस दौरान उन्होंने विधायक सरनाईक को मिस्टर इंडिया बताते हुए कहा कि वह गायब हैं।
प्रताप सरनाईक पर मनी लॉन्ड्रिंग का केस
इससे पहले ओवला माजीवाडा परिसर में भाजपा की तरफ से विधायक की गुमशुदगी को लेकर पोस्टर लगाया गया था। ठाणे के शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक और उनके बेटे का मनी लॉन्ड्रिंग में नाम आने के बाद ईडी ने उनके घर और फॉर्म हाउस पर छापेमारी की थी। उसके बाद से सरनाईक के भूमिगत होने का आरोप भाजपा लगातार लगा रही है।
‘राज्य और केंद्र के संघर्ष में पिस रहा हूं मैं’
सरनाईक का कहना है कि राज्य और केंद्र के संघर्ष के बीच वे पिस रहे हैं। सरनाईक ने उनके गायब होने के भाजपा के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए बताया की ईडी की कार्रवाई के बाद से अदालती प्रक्रिया शुरू है, वे उसी में व्यस्त हैं। इसको लेकर विरोधी बिना मतलब दुष्प्रचार कर रहे हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *