शहला राशिद के पिता का आरोप, मेरी बेटी देश विरोधी गतिविधियों में शामिल

श्रीनगर। जेएनयू की पूर्व छात्रा शहला राशिद पर उनके पिता ने देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगाया है। उन्होंने डीजीपी को चिट्ठी लिखकर शहला के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है। शहला के पिता ने आरोप लगाया है कि उनकी बेटी ने जुहूर बटाली और रशीद इंजिनियर से 3 करोड़ रुपये लिए थे। उन्होंने अपनी जान का खतरा बताते हुए डीजीपी से सुरक्षा की गुहार भी लगाई है। हालांकि, शहला ने पिता के सभी आरोपों से इंकार किया है। उन्होंने अब्दुल राशिद पर घरेलू हिंसा का आरोप लगाया है।
मामले में बाप-बेटी एक-दूसरे पर खुलकर आरोप लगा रहे हैं। मंगलवार को एक टीवी चैनल के डिबेट में दोनों आमने-सामने भी आए। तब दोनों के बीच क्या सवाल-जवाब हुए, आइए जानते हैंः
अब्दुल राशिद (शहला के पिता): शहला ने साल 2017 से पहले जो कुछ किया, मुझे उस पर गर्व था। वह दिल्ली में माने हुए संगठन सीपीआईएम में थी। शहला के 2017 में कश्मीर की सियासत में आने को लेकर हमारे मतभेद हुए। शहला ने अपनी विचारधारा में क्यों यू-टर्न लिया, इसका पता चलना चाहिए। मैंने विरोध किया, तो मेरे ऊपर घरेलू हिंसा का केस किया गया।
शहलाः मेरे ऊपर कोई आरोप नहीं है। आरोप मेरे पिता के ऊपर हैं। उनके ऊपर घरेलू हिंसा का केस है। कोर्ट ने आदेश दिया हुआ है कि उनको घर नहीं आने दिया जाए। सुनवाई में हाजिर न होने पर उनके खिलाफ ट्रायल कोर्ट ने वॉरंट जारी किया है। इनको पहले ही मोहल्ले वालों ने घर से निकाल दिया था क्योंकि इन्होंने मेरी मां के साथ हिंसा की थी और हमारे साथ गाली-गलौच की थी। ये बचपन से अब तक हमारे साथ मारपीट करते रहे हैं। इन्होंने रात को तीन बजे हमको घर से निकाला। इनको आज तक यह नहीं पता कि हम किस क्लास में पढ़ते हैं, हमारी मां हमारी फीस कैसे भरती थी।
अब्दुल राशिदः उनसे पूछिए कि जब वह पढ़ाई के बाद पहली बार कश्मीर से बाहर गईं तो किसके साथ गईं? बीटेक लिए जालंधर में काउंसलिंग और दिल्ली में एग्जाम जब हुआ था, तो किसके साथ गई थीं।
शहलाः इन्होंने (अब्दुल राशिद) तीन चीजें गिनवाई हैं। वही तीन चीजें इन्होंने हमारे लिए की हैं। इनके साथ कोई डिबेट में नहीं जाना है। कोर्ट में इनका वारंट निकला है। ये कोर्ट में आकर जवाब दें।
अब्दुल राशिदः कोर्ट में मैंने जवाब भी दे दिया है इनको और कोर्ट ने मुझे रेस्टोरेशन भी दे दिया है। मेरे पास कोर्ट का ऑर्डर है। कोर्ट ने मुझे मेरे घर में रेस्टोर किया है और यह कहकर रेस्टोर किया है कि इनको (अब्दुल राशिद को) ग्राउंड फ्लोर में रहना है और बाकी लोग फर्स्ट फ्लोर पर रहेंगे।
शहलाः इनको बोलिए, ये कोर्ट में आएं। कोर्ट ने वॉरंट निकाला है, ये वहां आकर जवाब दें।
अब्दुल राशिदः इनसे पूछो कि 3 करोड़ रुपये कमाई वाले हैं या बेकार हैं।
शहलाः पहले आप (अब्दुल) जवाब दीजिए कि आप जहूर बटाली से क्यों मिले थे? पहले इस चीज का जवाब दीजिए। (फिर शहला ने फोन काट दिया)
अब्दुलः क्योंकि इसने उनकी पार्टी जॉइन की थी। जम्मू-कश्मीर पीपुल्स अलायंस रशीद इंजिनियर की पार्टी के साथ मिली हुई थी कि नहीं? ये पूरे प्रेस को बहका रही है। मैंने सारे प्रूफ अदालत के सामने रखे हैं। मैं उनको जवाब कोर्ट में दूंगा।
ट्विटर पर भी दिया जवाब
इससे पहले शहला ने ट्विटर पर भी अपने पिता के आरोपों का जवाब दिया है। उन्होंने एक बयान जारी करते हुए कहा कि परिवार में ऐसा नहीं होता, जैसा मेरे पिता ने किया है। उन्होंने मेरे साथ-साथ मेरी मां और बहन पर भी बेबुनियाद आरोप लगाए हैं। शहला ने ट्वीट करते हुए कहा कि वह पत्नी को पीटने वाले, एक अपमानजनक और दुष्‍ट इंसान हैं। हमने आखिरकार उनके खिलाफ कार्यवाही करने का फैसला किया है और यह स्टंट उसी की प्रतिक्रिया है।’
शहला ने अपने बयान में आगे कहा है, ‘हालांकि यह पारिवारिक मसला है लेकिन हम पर लगाए गए आरोप बहुत गंभीर हैं। असलियत तो यह है कि मेरी मां, बहन और मैंने अपने पिता के खिलाफ कोर्ट में घरेलू हिंसा की शिकायत दर्ज कराई है। 17 नवंबर 2020 से उनके हमारे घर में घुसने से रोक लगा दी गई है। आप सभी से निवेदन है कि उनकी बातों को गंभीरता से न लें।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *