शशि थरूर का मानना है, प्रियंका गांधी में ‘नैसर्गिक करिश्मा’ है

नई दिल्‍ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर का मानना है कि प्रियंका गांधी में ‘नैसर्गिक करिश्मा’ है और वह पार्टी के नए अध्यक्ष पद के लिए सबसे उपुयक्त उम्मीदवार हैं। उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के विचार का समर्थन करते हुए कहा कि कांग्रेस जिस मोड़ पर खड़ी है, वहां पार्टी के अध्यक्ष पद पर कोई युवा चेहरा ही सबसे उपयुक्त होगा। थरूर ने माना कि राहुल गांधी के पार्टी अध्यक्ष पद छोड़ने के बाद से नेतृत्व को लेकर ‘स्पष्टता के अभाव’ का कांग्रेस पर घातक प्रभाव पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की सदस्यता समेत सभी प्रमुख पदों पर आवेदन मंगवाकर और नए सिरे से चुनाव करवाकर ही नए नेतृत्व को वैधता प्रदान की जा सकती है।
प्रियंका गांधी में नैसर्गिक करिश्मा: थरूर
केरल के तिरुअनंतपुरम से सांसद ने उम्मीद जताई कि जब कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव का ऐलान होगा तब कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा अपना नाम आगे बढ़ाएंगी। हालांकि, उन्होंने कहा कि यह फैसला गांधी परिवार को लेना है कि वह (प्रियंका) अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ेंगी या नहीं। यह पूछने पर कि क्या प्रियंका गांधी कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए सबसे उपयुक्त हैं, थरूर ने कहा कि उनमें (प्रियंका में) नैसर्गिक करिश्मा है जिसके कारण कई लोग उनकी तुलना इंदिरा गांधी से करते हैं। अगर वह कांग्रेस अध्यक्ष बनती हैं तो कार्यकर्ता और वोटर निश्चित रूप से प्रेरित होंगे और उनके पीछे चल पड़ेंगे। थरूर ने कहा कि प्रियंका में समर्थ सांगठनिक अनुभव भी है, वह कुछ समय से पार्टी की केंद्रीय टीम की प्रभावी शख्सियत रही हैं और उन्होंने लोकसभा चुनाव के दौरान उत्तर प्रदेश में जमीन पर भी काम किया है।
नए अध्यक्ष के सामने दोहरी चुनौतीः थरूर
थरूर ने पंजाब सीएम के इसी महीने की शुरुआत में दिए बयान से सहमति प्रकट की और कहा कि पार्टी की मौजूदा परिस्थिति और देश के सियासी हालात के मद्देनजर नए अध्यक्ष के सामने कार्यकर्ताओं में जोश भरने और मतदाताओं को कांग्रेस के पक्ष में वोटिंग के लिए प्रेरित करने की दोहरी चुनौती होगी। उन्होंने कहा कि वही व्यक्ति इस दोहरी चुनौती से पार पा सकता है जिसमें सांगठनिक क्षमता भी हो और जिसका व्यक्तित्व भी करिश्माई हो क्योंकि नए अध्यक्ष में सांगठनिक अथवा चुनावी रणननीति में से किसी भी मोर्चे पर कमजोरी कांग्रेस में जान फूंकने में बाधक होगी।
शीर्ष स्तर पर स्पष्टता के अभाव से कांग्रेस को नुकसानः थरूर
थरूर ने पार्टी की मौजूदा स्थिति के प्रति निराशा जाहिर की और माना कि कांग्रेस जिस संकट से गुजर रही है, उसका कोई समाधान नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा, ‘यह बिल्कुल सही है कि पार्टी के शीर्ष स्तर पर स्पष्टता के अभाव से कार्यकर्ताओं और समर्थकों को कष्ट हो रहा होगा। इनमें कई लोगों को पार्टी अध्यक्ष का अभाव खटक रहा होगा जिससे महत्वपूर्ण फैसलों, आदेशों के साथ-साथ प्रेरणा एवं ऊर्जा के लिहाज से उम्मीद लगाई जा सके और जिसके पीछे एकजुट होकर कदम बढ़ाए जा सकें।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *