कैराना विधायक नाहिद हसन को शामली कोर्ट ने भेजा जेल

शामली। समाजवादी पार्टी (सपा) के विधायक नाहिद हसन को गैंगस्टर के मुकदमे में आज शनिवार को अपर जिला सत्र न्यायालय फास्ट ट्रैक कोर्ट ने जेल भेज दिया।

सपा, रालोद गठबंधन के उम्मीदवार और वर्तमान विधायक नाहिद हसन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने नाहिद हसन को कोर्ट में पेश किया। इसके बाद नाहिद को 14 दिन को न्यायिक हिरासत में यानी जेल भेज दिया गया है। बताया जा रहा है कि नाहिद गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे में फरार थे। इसी मामले में शनिवार को यह कार्रवाई की गई। दूसरी तरफ कहा जा रहा है कि नाहिद हसन ने खुद पुलिस के सामने सरेंडर किया है। कल ही उन्‍होंने अपना नामांकन दाखिल किया था।

नाहिद हसन फिलहाल समाजवादी पार्टी से कैराना विधायक है। समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल गठबंधन की पहली लिस्ट में ही नाहिद हसन को कैराना से दोबारा उम्मीदवार घोषित किया गया है।

जनवरी 2020 में भी हुई थी गिरफ्तारी
जनवरी 2018 में नाहिद हसन और उनकी मां तबस्सुम बेग पर जमीन के बैनामे में तकरीबन 80 लाख रुपये की धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए थाने में शिकायत दर्ज कराई गई थी। शिकायतकर्ता कैराना के रहने वाले मोहम्मद अजीज थे। इस मामले में नौ लोगों पर मुकदमा दर्ज हुआ था। जनवरी 2020 में विधायक नाहिद हसन की जमानत याचिका खारिज करते हुए कोर्ट ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।

बताया गया कि छह फरवरी 2021 में विधायक नाहिद हसन और उनकी माता तबस्सुम हसन सहित 40 के खिलाफ गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज किया गया था। बता दें कि कैराना से सपा विधायक नाहिद हसन, उनकी मां पूर्व सांसद तबस्सुम हसन समेत 40 लोगों को गिरोहबंद अधिनियम (गैंगस्टर एक्ट) के तहत मामला दर्ज किया किया गया था। नाहिद हसन को गिरोह का लीडर बताते हुए कहा है कि इनकी आम जनता के बीच शोहरत ठीक नहीं है।

गैंगरेप पीड़िता के परिवार को धमकाने का आरोप
नाहिद हसन पर गैंगरेप पीड़िता के परिवार को धमकाने का भी आरोप लग चुका है। गंगोह के मुहल्ला औलिया निवासी एक शख्स ने कोतवाली में तहरीर दी थी। इसमें आरोप लगाया था कि 29 जून 2018 को कैराना के विधायक नाहिद हसन ने मोबाइल पर धमकी देकर गैंगरेप से जुड़ा मुकदमा वापस लेने और जबरन समझौता करने का दबाव बना रहे। साथ ही पीड़ित परिवार को फर्जी मुकदमों में फंसाने की धमकी दी थी।
– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *