शाहीन बाग मामला: वजाहत हबीबुल्लाह ने सुप्रीम कोर्ट को रिपोर्ट सौंपी

नई दिल्‍ली। शाहीन बाग में रास्ता खुलवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट से नियुक्त किए गए वार्ताकार वजाहत हबीबुल्लाह ने अपनी रिपोर्ट सर्वोच्च अदालत में पेश कर दी है।
उन्होंने कहा है कि संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ शाहीन बाग में चल रहा प्रदर्शन शांतिपूर्ण है। उन्होंने यह भी कहा है कि वहां 5 रास्ते पुलिस ने बंद किए हैं।
सुप्रीम कोर्ट की ओर से शाहीन बाग में रास्ता खुलवाने के लिए भेजे गए तीन वार्ताकारों में से एक हबीबुल्लाह ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया। सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को दो सदस्यीय बेंच इस मामले की सुनवाई करेगी। वजाहत के अलावा इस मामले में संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन को वार्ताकार बनाया गया है।
वार्ताकारों ने शाहीन बाग जाकर प्रदर्शनकारियों से बात की, लेकिन रास्ता नहीं खुलवाया जा सका है। प्रदर्शनकारियों ने वार्ताकार के सामने सात मांगें रखते हुए कहा कि जब तक सीएए वापस नहीं लिया जाता, तब तक रास्ते को खाली नहीं किया जाएगा। शाहीन बाग में 2 महीने से अधिक समय से संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन चल रहा है। इस वजह से नोएडा और दिल्ली के बीच सफर करने वाले लाखों लोगों को काफी परेशानी हो रही है। सुप्रीम कोर्ट ने इस पर चिंता जाहिर की थी।
एक सड़क खुली
70 दिन से धरनास्थल बने शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों ने शाम को कालिंदी कुंज 9 नंबर की सड़क खोल दी। इस रोड के खुलने से बटला हाउस, जैतपुर, जामिया नगर और होली फैमिली अस्पताल से फरीदाबाद जाने वालों को फायदा होगा। कालिंदी कुंज रोड से होकर वाया पुश्ता रोड फरीदाबाद आसानी से पहुंच सकेंगे, लेकिन फरीदाबाद से दिल्ली आने वालों की मुश्किलें जस की तस हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *