नुकसानदायक भी साबित हो सकते हैं इम्युनिटी बढ़ाने के अनेक उपाय

कोरोना के साथ-साथ पिछले कुछ महीनों से इम्युनिटी मजबूत करने की भी काफी चर्चा हो रही है। इसके लिए बाकायदा कुछ लोग सोशल मीडिया पर नुस्खे बता रहे हैं। कई लोग खुद की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत करने के लिए इनका अनुसरण भी कर रहे हैं। सबसे ज्यादा चर्चा काढ़े की हो रही है। ऐसे में लोग सोशल मीडिया से जानकारी लेकर बेहिसाब काढ़ा पी रहे हैं जबकि डॉक्टर इससे बचने की चेतावनी देते हैं। उनका कहना है कि जरूरत से ज्यादा कोई भी चीज परेशानी दे सकती है इसलिए रूटीन के साथ लंबे समय तक इनका सेवन करें, जिसका फायदा जरूर मिलेगा।
धीरे-धीरे बढ़ती है इम्‍युनिटी
आयुष विभाग में जनरल फिजिशियन डॉ. अनुप्रिया के अनुसार रोग प्रतिरोधक क्षमता रातों-रात नहीं बढ़ती है। नियमित दिनचर्या, व्यायाम, पौष्टिक व सुपाच्य भोजन के सेवन से धीरे-धीरे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। किसी भी चीज का अधिक सेवन करते हैं तो पेट उसे डाइजेस्ट नहीं कर पाता है। बिना डॉक्टरों की सलाह के अधूरी जानकारी में इसका इस्तेमाल नुकसानदेह हो सकता है। संतुलित मात्रा में काढ़ा आदि का सेवन संक्रमण में लाभदायक है।
हर चीज पर आंख बंद कर भरोसा न करें
किडनी रोग विशेषज्ञ डॉ. पीएन गुप्ता का कहना है कि कोरोना काल में इम्युनिटी स्ट्रांग करना बहुत जरूरी है, लेकिन सोशल मीडिया पर चल रहे वीडियो और लिखी जा रहीं सुनी सुनाई बातों पर ही ज्यादा फोकस न करें। कई चीजें इम्युनिटी को स्ट्रांग करने के लिए अच्छी हैं लेकिन उसके ज्यादा सेवन से समस्याएं हो सकती हैं। आधी-अधूरी सूचनाओं पर लोग भरोसा करके औषधीय काढ़ा और औषधीय गुणों वाले मसालों का उपयोग काफी ज्यादा कर रहे हैं।
विशेषज्ञों का कहना है कि काढ़े में इस्तेमाल होने वाली चीजें मसलन काली मिर्च, गिलोय, दालचीनी, लहसुन और एलोवेरा की सही मात्रा का ज्यादातर लोगों को पता नहीं है। ऐसे में वे बेहिसाब सेवन कर सेहत से खिलवाड़ कर रहे हैं। लोग पेट में दर्द, ऐंठन, कब्ज की शिकायत कर रहे हैं। इम्युनिटी स्ट्रांग करने वाले पदार्थों की मात्रा महिलाओं, पुरुषों और बच्चों के लिए अलग-अलग हो सकती है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *