क़ंदील बलोच की हत्या में उसके भाई को उम्रक़ैद की सज़ा

पाकिस्तान की सोशल मीडिया स्टार क़ंदील बलोच की हत्या के मामले में अदालत ने उसके भाई मोहम्मद वसीम को उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई है.
अदालत ने उसके दूसरे भाई मोहम्मद आरिफ़ को ‘वॉन्टेड’ क़रार दिया और मामले में अन्य अभियुक्त मुफ़्ती अब्दुल क़वी को बरी कर दिया है.
अदालत के जज ने फ़ैसला दिया कि क़ंदील के भाई मोहम्मद वसीम को धारा 311 के तहत आजीवन कारावास की सज़ा हो. अभियोजन पक्ष बाकी अभियुक्तों के आरोप साबित करने में असफल रहा.
फ़ैसला सुनाए जाने के बाद मुफ़्ती अब्दुल क़वी ने बताया कि उसे न्यायपालिका पर भरोसा था और उम्मीद थी कि फ़ैसले में न्याय और ईमानदारी क़ायम रहेगी.
क़वी ने कहा कि उसे अपने बेग़ुनाह साबित होने की पूरी उम्मीद थी क्योंकि एफ़आईआर में उसका नाम तक नहीं था.
अपने बेबाक अंदाज़ के लिए पहचानी जाने वालीं पाकिस्तानी सोशल मीडिया सेलिब्रिटी क़ंदील बलोच की जुलाई 2016 में हत्या कर दी गई थी.
‘क़ंदील का गला घोंटा गया था’
15 जुलाई 2016 को ख़बर मिली कि क़ंदील बलोच की उसके सगे भाई ने हत्या कर दी है.
देर रात गिरफ़्तारी के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उसके भाई वसीम ने हत्या की बात कबूल की थी. उसका कहना था कि क़ंदील के कारण उनके परिवार की बेइज़्ज़ती हो रही थी.
पुलिस जांच में पता चला था कि उसका गला घोंट दिया गया था.
क़ंदील के भाई ने कहा कि सोशल मीडिया पर कंदील के जो वीडियो आते थे, उन्हें लेकर लोग ताने देते थे और वे ताने उससे सहन नहीं हुए.
कौन थीं क़ंदील बलोच?
क़ंदील बलोच पाकिस्तान के पंजाब प्रांत मुल्तान ज़िले में जन्मी एक ग़रीब परिवार की लड़की थी. उसका असली नाम फ़वाज़िया था लेकिन उसने क़ंदील बलोच के नाम से प्रसिद्धि पाई.
अपने बेबाक और बोल्ड अंदाज़ के कारण उसने पाकिस्तानी सोशल मीडिया में ख़ूब सनसनी मचाई. उसके वीडियो और सोशल मीडिया पोस्ट की वजह से उनके लाखों प्रशंसक बने और बहुत से लोग उससे नफ़रत भी करने लगे.
बहुत से लोगों ने उस पर ‘इस्लाम के अपमान’ का आरोप लगाया और उसके बहिष्कार की मांग करने लगे.
क़ंदील ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उसे जान से मारे जाने की धमकियां मिल रही थीं.
उसने कहा था, “मुझे धमकियां मिलती हैं लेकिन मेरा मानना है कि मौत का वक़्त निश्चित है और जब आपकी मौत का समय आता है तो आपको मरना ही होगा.”
क़ंदील की हत्या से पहले उसका नाम पाकिस्तान में खोजे जाने वाले टॉप-10 लोगों में शामिल था.
मुफ़्ती के साथ वीडियो से निशाने पर आई
क़ंदील बलोच कट्टरपंथियों के निशाने पर उस वक़्त आई जब एक टीवी कार्यक्रम में वो मुफ़्ती अब्दुल क़वी के साथ शामिल हुई.
टीवी पर दोनों ने एक-दूसरे से खुले तौर पर फ़्लर्ट किया था. इसके कुछ वक़्त बाद वो मुफ़्ती से मिलने पहुंची थी और दोनों ने एक-दूसरे के साथ सेल्फ़ी ली थी.
बातचीत के दौरान क़ंदील ने मुफ़्ती की टोपी भी पहन ली थी जिसे कई लोगों ने ‘इस्लाम और मुफ़्ती के अपमान’ के तौर पर लिया था.
क़ंदील की हत्या के बाद उसके भाई ने कहा था कि वो अपने परिवार के लिए शर्मिंदगी की वजह बन रही थी और इसीलिए उसने उसकी हत्या कर दी.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *