सनसनीखेज दावा: अमेरिका के पैसों से वुहान में चमगादड़ों पर रिसर्च कर रहा था चीन

पेइचिंग। दुनिया भर में कोरोना वायरस फैलाने के लिए क्या चीन की मांस मार्केट नहीं बल्कि एक चीनी लैब जिम्मेदार है? वह चीनी लैब जो अमेरिका के पैसों पर चमगादड़ों पर रिसर्च कर रही थी। यह सनसनीखेज दावा एक रिपोर्ट में किया गया है। खबर के मुताबिक चीन में स्थित यह लैब अमेरिकी सरकार के ग्रांट (आर्थिक मदद) पर चीनी गुफाओं से निकाले गए चमगादड़ों पर रिसर्च कर रही थी।
डेली मेल में प्रकाशित खबर के मुताबिक Wuhan Institute of Virology में यह रिसर्च की जा रही थी। अमेरिकी सरकार ने इस शोध के लिए उसे करीब 10 करोड़ रुपये का ग्रांट दिया था। चीन की इस लैब पर पहले भी ऐसे आरोप लगते रहे हैं कि उसने ही यह वायरस फैलाया है। यह लैब वुहान की मांस मार्केट के पास ही है। उन्होंने शोध के लिए 1000 मील दूर गुफाओं से चमगादड़ों पकड़े थे।
लैब के कागजातों से खुलासा
वेबसाइट के मुताबिक उन्हें लैब के कुछ ऐसे कागजात मिले हैं जिससे पता चला है कि वहां साइंटिस्ट यूएस नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ के फंड पर चमगादड़ों पर प्रयोग कर रहे थे। ऐसा पहले भी सामने आया है कि यह वायरस किसी प्रयोग की वजह से दुनिया में फैला है। अब इस खबर से इस दावे को हवा मिलती है।
खबर के बाद अमेरिका में भी विरोध के स्वर उठ रहे हैं। अमेरिकी सांसद मैट गैट्स ने कहा, ‘मैं यह जानकर निराश हूं कि सालों से अमेरिकी सरकार Wuhan Institute of Virology को जानवरों पर ऐसे खतरनाक और क्रूर प्रयोग करने के लिए पैसे दे रही थी। हो सकता है कि इस वजह से ही दुनिया में कोराना वायरस फैला हो।’
ऐसे प्रयोगों के खिलाफ आवाज उठाने वाले एक अमेरिकी संगठन व्‍हाइट कोट वेस्ट ने कहा कि अमेरिकी सरकार टैक्स के डॉलर ऐसे प्रयोगों में खर्च करती है। उन्होंने कहा, ‘ऐसे सुना है कि वायरस वाले जानवर या ऐसे प्रयोगों के बाद फेंके गए जानवरों को वहां के बाजारों में बेच दिया जाता था।’
हालांकि, वुहान इंस्टिट्यूट अपने ऊपर लगे ऐसे आरोपों को हमेशा से नकारता रहा है। इस इंस्टिट्यूट को चीनी सरकार ने 2003 के बाद बनाया था। तब चीन में सार्स वायरस फैला था। सार्स कोरोना का ही एक वायरस था जिसने 775 लोगों की जान ली थी। दुनियाभर में 8 हजार लोग उससे संक्रमित हुए थे।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *