झटके पे झटका: TMC के वरिष्ठ नेता दिनेश त्रिवेदी का राज्‍यसभा और पार्टी से इस्‍तीफा

नई दिल्‍ली। तृणमूल कांग्रेस TMC के राज्यसभा सांसद दिनेश त्रिवेदी ने शुक्रवार को राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया। दिनेश त्रिवेदी के इस नाटकीय रूप से इस्तीफे पर सभी हक्के-बक्के रह गए। बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले टीएमसी के बड़े नेता का इस तरह से राज्य सभा की कार्यवाही के बीच इस्तीफे की घोषणा को पार्टी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। सदन में दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि हर इंसान के जीवन में ऐसी घड़ी आती है जब उसे अपनी अंतरआत्मा की आवाज सुनाई देती है। उन्होंने कहा कि सर, आज मेरे जीवन में भी ऐसी ही घड़ी आई है। मैं अपनी पार्टी का आभारी हूं जिसने मुझे यहां भेजा है।
अब घुटन हो रही है, कुछ कर नहीं पा रहा
दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि अब मुझे थोड़ी घुटन महसूस हो रही है। हम कुछ कर नहीं पार रहे हैं, उधर अत्याचार हो रहा है। तो मेरी आत्मा की आवाज आज यह कह रही है कि यहां बैठे-बैठे चुपचाप रहकर कुछ नहीं करने से तो अच्छा है कि यहां से आप त्यागपत्र दे दिया जाए और बंगाल की भूमि पर जाकर लोगों के साथ रहा जाए।
उधर अत्याचार हो रहा है…मैं क्या करूं
उन्होंने कहा कि मकसद ये है कि जिस तरह से हिंसा हो रही है, हमारे प्रांत (पश्चिम बंगाल) में, मुझे यहां बैठा-बैठा बड़ा अजीब लग रहा है। मैं यहां करूं क्या? त्रिवेदी ने कहा कि हम उस जगह से आते हैं जहां रबिंद्र नाथ टैगोर, सुभाष चंद्र बोस और खुदी राम बोस जैसे लोग आते हैं। इसके बाद उन्होंने बांग्ला में जन्मभूमि के महत्व को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि हम असल में जन्मभूमि के लिए ही हैं और कुछ नहीं। उन्होंने कहा कि मुझसे यह देखा नहीं जा रहा है। हम करें तो क्या करें। हम सीमित हैं। पार्टी के अनुशासन में बंधे हैं।
पीएम मोदी के नेतृत्व की तारीफ की
दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि अब मैं यहां बैठकर सोच रहा था कि हम राजनीति में क्यों आते हैं। देश के लिए आते हैं क्योंकि यह सबसे सर्वोपरि होता है। टीएमसी नेता ने पीएम मोदी और गुलाम नबी आजाद का भी जिक्र किया। उन्होंने अपने जीवन में रेलमंत्री बनने के दौरान का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि आज भी देखते हैं कि देश की क्या परिस्थिति है। पूरी दुनिया हिंदुस्तान की तरफ देखती है। कोरोना महामारी के समय भी दुनिया देख रही थी कि किस तरह हिंदुस्तान आगे निकलेगा। बहुत अच्छी तरह सबने मिलकर इसका सामना किया लेकिन नेतृत्व पीएम नरेंद्र मोदी का था।
गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस को बीजेपी लगातार झटके पर झटका दे रही है। सुवेंदु अधिकारी के बाद तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिनेश त्रिवेदी ने अपने इस्तीफे का ऐलान किया है।
ममता बनर्जी के नेतृत्व से निराश होकर कई बड़े विधायक और मंत्री भगवा झंडा थाम चुके हैं। बीते दिनों विधायक और पूर्व मंत्री राजीव बनर्जी समेत TMC के 5 बड़े नेता बीजेपी में शामिल हो गए थे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *