देशद्रोह के आरोपी Sharjeel Imam की पेशी शाम को

नई द‍िल्ली। देशद्रोही भाषण देने के आरोपी जेएनयू छात्र Sharjeel Imam की पेशी अब पटियाला हाउस कोर्ट के जज के घर शाम पांच बजे के करीब होगी। सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर पुलिस ने ये कदम उठाया है। जज का घर साकेत कोर्ट कांप्लेक्स में है। पुलिस पूछताछ के लिए कोर्ट से Sharjeel Imam की रिमांड मांगेगी। इससे पहले बुधवार दोपहर क्राइम ब्रांच की टीम शरजील को लेकर दिल्ली पहुंची। एयरपोर्ट पर मीडिया की भीड़ के कारण Sharjeel Imam को दूसरे गेट से निकाला गया।

बिहार से गिरफ्तार किया गया था शरजील

जेएनयू के छात्र शरजील इमाम को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने बिहार के जहानाबाद से मंगलवार को गिरफ्तार किया था। शरजील ने पहचान छिपाने के लिए बाल व दाढ़ी छोटी करा ली थी। पुलिस ने वह कार भी जब्त कर ली थी, जिससे वह भागने की तैयारी में था। मंगलवार देर शाम पुलिस ने उसे मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (सीजेएम) के समक्ष पेश कर 36 घंटे की ट्रांजिट रिमांड पर लिया। उसका मेडिकल कराने के बाद पटना ले जाया गया। सुरक्षा के लिहाज से उसे महिला थाने में रखा गया था।

शरजील के पिता अकबर इमाम जेडीयू के लीडर रहे हैं

शरजील के परिवार की पृष्ठभूमि राजनीतिक है। उनके पिता अकबर इमाम जेडीयू के लीडर रहे हैं।  2005 में उन्होंने पार्टी के टिकट से चुनाव भी लड़ा था। पिता के गुज़र जाने पर अब भाई मुज़म्मिल स्थानीय राजनीति में एक्टिव हो गए हैं। चाचा अरशद इमाम भी जेडीयू के प्रखंड स्तर के नेता हैं।
जहानाबाद के स्थानीय पत्रकार राजन कुमार कहते हैं कि “शरजील की शुरुआती पढ़ाई यहीं से हुई है। वह उन दिनों में अपने मोहल्ले के सबसे तेज़ लड़कों में से थे।  आईआईटी रुड़की से इंजीनियरिंग की है।  बंबई से रिसर्च किया है। अभी जेएनयू से भी रिसर्च ही कर रहा है लेकिन अब गांव से उनका कोई ख़ास कनेक्शन नहीं है। यहां आता भी है तो पटना में मां के पास समय बिताता है। ”
वैसे तो शरजील के भाषण से शाहीन बाग़ वाले प्रदर्शनकारियों ने ख़ुद को अलग कर लिया है लेकिन उसके परिजन शरजील के भाषण के पक्ष में पूरी मज़बूती के साथ खड़े हैं।
उसके चाचा अरशद कहते हैं, “उसने अपनी बात रखी है। इस लोकतंत्र में सभी को अपनी बात रखने का हक़ है लेकिन मीडिया ने इसे बीजेपी वालों के कहने पर इस तरह से दिखा दिया कि हमारा लड़का देशद्रोही बन गया। जो लोग उसे देशद्रोही कह रहे हैं उन्हें उसका पूरा भाषण सुनना चाहिए। ”
क्या है वायरल वीडियो में?
वायरल वीडियो में शरजील इमाम कहता दिखता है, “मेरी नज़र में आगे का प्लान हमारे सामने यह होना चाहिए कि हम लोग अपना एक इंटलेक्चुअल सेल बनाएं जिसे गांधी, नेशन इन सब चीज़ों में लगाव न हो। आपको पता होना चाहिए कि 20वीं सदी का सबसे फासिस्ट लीडर गांधी ख़ुद है. कांग्रेस को हिंदू पार्टी किसने बनाया ?”
वीडियो में शरजील कहता नज़र आता है, “लोग हमारे पास ऑर्गनाइज़्ड हों तो हम हिंदुस्तान और नॉर्थ ईस्ट को परमानेंटली कट कर सकते हैं। परमानेंटली नहीं तो कम से कम एक-आध महीने के लिए तो कट कर ही सकते हैं। मतलब इतना मवाद डालो पटरियों और सड़कों पर कि उन्हें हटाने में ही एक महीना लगे। ”
वीडियो के मुताबिक शरजील कहता है कि “असम और इंडिया कटकर अलग हो जाएंगे, तभी ये हमारी बात सुनेंगे।  असम में जो मुसलमानों का हाल है, आपको पता है। सीएए लागू हो गया वहां। डिटेंशन कैंप में लोग डाले जा रहे हैं। वहां क़त्ल-ए-आम चल रहा है। छह-आठ महीने में पता चला सारे बंगालियों को मार दिया, हिंदू हो या मुसलमान। अगर हमें असम की मदद करनी है तो असम का रास्ता बंद करना होगा। ”
पूर्वोत्तर को भारत से जोड़ने वाले पतले से भूभाग जिसे ‘चिकन्स नेक’ कहा जाता है, शरजील उसका भी ज़िक्र करता है। उसने कहा, ”यहां मुसलमान अधिक संख्या में हैं और वे ऐसा कर सकते हैं। ”

– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *