जेल में बंद हैं DDCA के सचिव तिहारा, बता दिया कि सेल्‍फ आइसोलेशन में हैं

नई दिल्‍ली। दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ DDCA के सचिव विनोद तिहारा का एक बड़ा झूठ सामने आया है. विनोद तिहारा को लेकर ऐसी खबरें थी कि उनमें कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए थे इसलिए वह सेल्‍फ आइसोलेशन में हैं, लेकिन अब खुलासा हुआ है कि DDCA का ये अधिकारी पिछले एक महीने से जेल में बंद है. विनोद तिहारा पर वित्तीय धोखाधड़ी का आरोप है और वो पिछले एक महीने से मेरठ की जेल में बंद हैं. उन्हें कोरोना वायरस भी नहीं है.
तिहारा के परिवार ने गिरफ्तार होने की बात छिपाई!
मेरठ एसएसपी अजय साहनी ने पीटीआई ने बताया, ‘दिल्ली निवासी विनोद तिहारा नाम के व्यक्ति को जीएसटी मानदंडों के उल्लंघन के आरोप में 17 मार्च को राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) की नोएडा शाखा द्वारा गिरफ्तार किया गया था और वह इस समय मेरठ जेल में हैं.’ मार्च के मध्य से ही तिहारा से संपर्क नहीं हो पा रहा है जिससे उनके गुट के सदस्यों सहित DDCA अधिकारी घबराये हुए थे.
DDCA के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘काफी समय तो हमें लगा कि विनोद को कोविड-19 के लिये पॉजिटिव पाया जा चुका है. एक दो लोगों ने उनके परिवार के सदस्यों से संपर्क किया था तो उन्हें बताया गया कि वह अलग रह रहे हैं. उनका फोन पिछले एक महीने से बंद हैं.’ धन की हेराफेरी को लेकर DDCA के लोकपाल न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) दीपक वर्मा द्वारा स्काइप पर आयोजित हालिया ऑनलाइन सुनवाई के दौरान संस्था के एक वकील और उनके करीबी ने शीर्ष परिषद के सदस्यों को बताया कि उन्हें कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है.
अधिकारी ने कहा, ‘हम सभी परेशान हो गये क्योंकि 15 मार्च तक हम सभी तिहारा से अलग-अलग जगहों पर मिले थे. हमने उन्हें कहा कि हमें इस बारे में सूचित क्यों नहीं किया गया क्योंकि हमें भी खुद को अलग रखने की जरूरत थी. ‘ उन्होंने कहा, ‘तब उन्होंने कहा कि अगर आप लोग कोविड-19 पॉजीटिव होते तो तुम्हें अभी तक पता चल जाता. यह बहुत ही संदेह वाली बात थी.’ लॉकडाउन के कारण यह तो समझा जा सकता है कि उनकी जमानत की याचिका टाल दी गयी है.
तिहारा पर भ्रष्टाचार का भी है आरोप
बता दें विनोद तिहारा पर भ्रष्टाचार के भी संगीन आरोप हैं. पिछले साल दिल्ली पुलिस ने तिहारा के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी जिसमें उन्हें दिल्ली क्रिकेट में उम्र संबंधी धोखाधड़ी का मास्टरमाइंड बताया गया था. तिहारा पर आरोप है कि उन्होंने पैसे लेकर ज्यादा उम्र के खिलाड़ियों को छोटी उम्र की टीमों में खिलाया. इस मामले में 2018 अंडर 19 वर्ल्ड कप विजेता टीम के ओपनर मनजोत कालरा भी फंसे थे.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *