स्टाफ को वैक्सीन लगाने के बाद ही खोले जाएं स्कूल: डॉ. झा

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना महामारी से लड़ने वाली एंटी कोरोना टास्क फोर्स (Anti corona task force) के संस्थापक राष्ट्रीय संयोजक डॉ. कृष्ण कुमार झा ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी एवं भारत के स्वास्थ्य मंत्री डॉ.हर्षवर्धन को पत्र लिखकर शिक्षाविदों, अध्यापक, स्कूल स्टाफ को कोरोना वैक्सीन अभियान में शामिल करने की मांग की है। अपने पत्र में डॉ.कृष्ण कुमार झा ने कहा है कि अब स्कूल खुलने से कोरोना का खतरा बढ़ गया है और यह देश के करोड़ों अभिभावकों की चिंता है क्योंकि सरकार ने
शिक्षाविदों,अध्यापक,स्कूल स्टाफ को अभी तक कोरोना की कोई वैक्सीन नहीं दी है ना ही उनको वैक्सीनेशन अभियान में शामिल किया गया है, जो लाखों बच्चों की जिंदगी खतरे में डाल सकता है। उन्होंने इसी बात की चिंता जाहिर करते हुए अपने पत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संबोधित करते हुए लिखा है कि “आपके मार्गदर्शन में जिस प्रकार देश कोरोना से विजयी होते हुए आज वैक्सीनेशन में विश्व में चौथे पायदान पर आ पहुंचा है यह आपकी दूरदर्शिता के कारण संभव हुआ है। आप हमारे मार्गदर्शक होने के साथ राष्ट्र में अभिभावक भी हैं।”

उन्होंने पीएम मोदी को अवगत कराते हुए लिखा है कि एंटी कोरोना टास्क फोर्स नामक गैर सरकारी संस्था लॉकडाउन के पहले दिन से देश में राशन, चिकित्सा, मास्क, सेनिटज़र, पी पी ई किट बांटने का कार्य देश करती रही है और जागरूकता कार्यक्रम चलाकर सरकार का हर संभव सहयोग किया है।

डॉ. कृष्ण कुमार झा ने कहा कि “जिस प्रकार हमारे देश में वैक्सीनेशन एक महीने में हुआ है उसमें अब हमारे शिक्षाविदों, अध्यापक, स्कूल स्टाफ को कोरोना योद्धा एवं फ्रंट लाईन वर्कर मानते हुए इस वैक्सीनेशन अभियान में शामिल किया जाना चाहिए क्योंकि पिछले साल मार्च से स्कूल बंद हैं और ऑनलाइन पढ़ाई देश के करोड़ों छात्र – छात्राएं घर पर ही रहकर कर रहे हैं। अब स्कूल खोलने से कोरोना जैसी महामारी का खतरा बढ़ गया है, क्योंकि वैक्सीनेशन अभियान में हमारे शिक्षाविदों, अध्यापक, स्कूल स्टाफ को शामिल नहीं किया गया है अतः बच्चों में भी इस महामारी को फ़ैलने का खतरा है।”

उन्होंने गंभीर चिंता जाहिर करते हुए लिखा है कि “स्कूल का स्टाफ यद‍ि कोरोना संक्रमित हुआ तो हज़ारों बच्चों की जान खतरे में आ सकती है अतः स्कूलों को तक तक खोला नहीं जाना चाहिए जब तक शिक्षाविदों,अध्यापक, स्कूल स्टाफ को कोरोना की दोनों डोज वैक्सीनेशन के रूप में नहीं लग जाती ऐसे में हम और अधिक सुरक्षा मानक स्थापित करके देश में भविष्य को सुरक्षित रखने में सफल होने की दिशा में आगे बढ़ेंगे।”

उन्होंने कहा कि मैं अपने 25 से अधिक साथी डॉक्टर्स की टीम जिसमें डॉ. एम वली, डॉ.शरद लखोटिया, डॉ सिद्धार्थ गुप्ता, डॉ पीयूष सिंह, डॉ.मनु गौतम, डॉ.तोमर, डॉ.रोबिन मलिक, राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख के पी मलिक, मीडिया सलाहकार अशोक कुमार निर्भय समेत संस्था के मुख्य वरिष्ठ राष्ट्रीय कार्यकारी सलाहकार जाने माने आईपीएस सेवनिवृत्त डाक्टर पी.एम नायर, राष्ट्रीय अध्यक्ष जितेंद्र चौधरी, वरिष्ठ कानूनी सलाकार डीएम शर्मा, वरिष्ठ सर्वोच्च न्यायालय अधिवक्ता सुमंत भारद्वाज, विजेंद्र प्रसाद, फ़राज़ अंसर सभी सहयोगियों का भी आभार प्रकट करता हूँ जिनके सहयोग से हम आज कोरोना के खिलाफ जंग में विजय की और बढ़ रहे हैं।

  • Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *