संस्कृति विवि के छात्रों को पीवीआर सिनेमा में मिली नौकरी

मथुरा। संस्कृति विश्वविद्यालय के सात छात्रों को देश की नामी गिरामी कंपनी पीवीआर सिनेमा ने अच्छे वेतनमान पर चयनित किया है। कंपनी से आए अधिकारियों ने यह चयन आनलाइन प्रक्रिया के तहत किया है।

पीवीआर कंपनी के एचआर एहसान इमाम विभाग ने ऑनलाइन, टेलीफोनिक और वीडियो काल के द्वारा संस्कृति विवि के होटल मैनेजमेंट और बीबीए के विद्यार्थियों का चयन किया। तीन चरणों में हुई चयन प्रक्रिया में विद्यार्थियों ने अपनी रुचि के अनुरूप भाग लिया। संस्कृति विश्वविद्यालय में स्कूल ऑफ टूरिज्म एंड हॉस्पिटेलिटी विभाग के अध्यक्ष पियूष झा ने बताया कि कंपनी छविग्रहों की एक बड़ी चेन है। कंपनी के द्वारा देशभर में अपने सिनेमाग्रहों से फिल्मों का प्रदर्शन किया जाता है। कंपनी अपने सुविधायुक्त आधुनिक सिनेमाग्रहों के कारण खासी लोकप्रिय है।

कंपनी के अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार कंपनी फिल्मों के प्रदर्शन के क्षेत्र में एक मजबूत इरादे के साथ आगे की ओर बढ़ने वाली कंपनी है। कंपनी बड़े पैमाने में पूरी क्षमता के साथ अपने छविग्रहों का संचालन कर रही है। कंपनी के एचआर एहसान इमाम ने जानकारी देते हुए बताया वर्तमान कोरोना महामारी से उपजी विपरीत परिस्थितियों में कंपनी द्वारा आनलाइन चयन प्रक्रिया अपनाई गई है। संस्कृति विवि के छात्रों ने चयन प्रक्रिया के दौरान अपनी योग्यता का बेहतरीन प्रदर्शन किया है। उन्होंने बताया कि कंपनी द्वारा अपनी जरूरत के मुताबिक विवि के टूरिज्म एंड हास्पिटेलिटी विभाग से पांच विष्णु चौधरी, अभय कुमार तिवारी, कमल पांडे, मो. आदिल हुसैन, पवन चौधरी और संस्कृति स्कूल आफ मैनेजमेंट एंड कामर्स के दो विद्यार्थियों अंकित कुमार और उमा राघव का चयन किया है।

संस्कृति विवि की विशेष कार्याधिकारी श्रीमती मीनाक्षी शर्मा ने बताया कि विद्यार्थियों को रोजगारपरक शिक्षा प्रदान की जा रही है, यही वजह है कि ये विद्यार्थी कंपनियों की आवश्यकताओं पर खरे उतर रहे हैं। उन्होंने सभी चयनित छात्रों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हमारे विवि से निकलकर बड़ी-बड़ी कंपनियों में रोजगार पा रहे छात्र-छात्राएं विवि का नाम तो ऊंचा कर ही रहे हैं साथ ही कंपनियों को भी आगे ले जाने में बहुत बड़ा योगदान दे रहे हैं।
– Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *