संस्कृति विवि व अक्षयपात्र ने दिव्यांग बच्चों को दीं हैप्पीनेस किट

मथुरा। संस्कृति विश्वविद्यालय और अक्षय पात्र ने मिलकर दिव्यांग बच्चों को हैप्पीनेस किट का वितरण किया। इस मौके पर संस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति सचिन गुप्ता ने कार्यक्रम में उपस्थित दिव्यांग बच्चों के अभिभावकों को कहा कि ऐसे बच्चों के प्रति हमको अपना नजरिया बदलना होगा। इनमें से अनेक बच्चे बहुत प्रतिभाशाली हैं। इनके प्रति सकारात्मक व्यवहार इनके जीवन को खुशहाल बना सकता है।

कुलाधिपति ने कहा कि संस्कृति विश्वविद्यालय द्वारा दिव्यांग बच्चों के लिए चलाया जा रहा निशुल्क स्कूल इन बच्चों के लिए ऐसी पाठ शाला है जहां इनको अपनी प्रतिभा को और निखारने के अवसर मिलते हैं। यहां बच्चों को सीखने के लिए अनेक उपकरणों की व्यवस्था की गई है। विशेष दक्षता वाले शिक्षक इनको पढ़ाते हैं, विभिन्न खेलों को खिलाते हैं। यहां बच्चों को निशुल्क भोजन भी कराया जाता है। यहां आकर बच्चे इतने खुश हो जाते हैं कि घर जाने का नाम नहीं लेते। दिव्यांग स्कूल तक लाने और घर तक पहुंचाने की भी विद्यालय ने निशुल्क वाहन व्यवस्था की है। उन्होंने अभिभावकों से कहा कि इनके प्रति अच्छा व्यवहार इनको प्रोत्साहित करता है। ये प्यार पाते ही आपके हो जाते हैं। थोड़े से समझाने से ही आपकी बात को समझने लगते हैं।

कार्यक्रम में लगभग 67 दिव्यांग बच्चे और उनके अभिभावक मौजूद थे। कार्यक्रम के दौरान दिव्यांग स्कूल के शिक्षकों ने बच्चों की प्रतिभा के अनेक रोचक किस्से बताए। उन्होंने बताया कि ये बहुत सुंदर साज-सामान, पेंटिंग के अलावा लघु नाटक और नृत्य बड़ी कुशलता से प्रस्तुत करते हैं। इस मौके पर दिव्यांग बच्चों से जुड़े अनेक किस्से अभिभावकों ने भी प्रस्तुत किए। अक्षय़ पात्र से आए जितेंद्र शर्मा और विष्णु सिंह ने बच्चों को बच्चों के खाने के लिए बिस्कुट, चिप्स के अलावा दाल, चावल आदि अनेक वस्तुओं से भरी हैप्पीनेस किट कुलाधिपति सचिन गुप्ता, संस्कृति विवि के कुलपति डा. राणा सिंह, विशेष कार्याधिकारी मीनाक्षी शर्मा के करकमलों द्वारा वितरित कराई।

  • Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *