रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने भारत को हर तरह की मदद का आश्वासन दिया

मॉस्‍को। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कोविड महामारी से जूझ रहे भारत को हर तरह की मदद देने का आश्वासन दिया है. बुधवार को भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति के बीच फ़ोन पर बात हुई थी.
रूस के विदेश मंत्रालय का कहना है कि रूस आपातकालीन मानवीय मदद भारत भेज रहा है. 22 टन ज़रूरी उपकरण, जिनमें 20 ऑक्सीजन प्रोडक्शन यूनिट, 75 लंग वेंटिलेटर्स, 150 मेडिकल मॉनिटर्स और दो लाख दवाइयों के पैक हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने रूस को इस मदद के लिए शुक्रिया कहा है.
भारत में अब रूसी वैक्सीन स्पूतनिक वी भी लगेगी. रूस ने भारत के इस क़दम का स्वागत किया है. रूस ने कहा है कि स्पूतनिक वी की एफिकेसी दर और सुरक्षा सबसे ऊपर है. रूस की स्पूतनिक वी वैक्सीन का उत्पादन भारत में ही होगा. मई महीने से भारतीय कंपनियाँ स्पूतनिक वी वैक्सीन की 85 करोड़ खुराक तैयार करेंगी.
पीएम मोदी और राष्ट्रपति पुतिन के बीच हुई बातचीत को लेकर भारतीय विदेश मंत्रालय ने प्रेस रिलीज जारी किया है. विदेश मंत्रालय के अनुसार रूस ने आश्वासन दिया है कि वो मुश्किल वक़्त में भारत के साथ खड़ा है.
दोनों देशों के बीच यह सहमति भी बनी है कि रूसी वैक्सीन स्पूतनिक वी का उत्पादन भारत में होगा और इसका इस्तेमाल भारत समेत बाक़ी दुनिया में भी किया जा सकेगा. प्रधानमंत्री मोदी ने भारत के गगनयान कार्यक्रम में रूस की मदद के लिए भी धन्यवाद कहा.
उधर नई दिल्ली स्थित चीनी दूतावास ने भी कहा है कि चीन भारत की मदद के लिए तैयार है. भारत में चीन के राजदूत सुन वेइदोंग ने ट्वीट कर कहा है, ”भारत से आई मांग को देखते हुए चीन मेडिकल आपूर्तिकर्ता ओवरटाइम काम कर रहे हैं. हाल के दिनों में क़रीब 25 हज़ार ऑक्सीजन कॉन्सट्रेटर्स की मांग भारत से आई है. कार्गो प्लेन मेडिकल आपूर्ति के लिए तैयार हैं. चीनी कस्टम इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाएंगे.”
भारत में कोविड से अब तक दो लाख से ज़्यादा लोगों की जान जा चुकी है और हाल में हर दिन तीन लाख से ऊपर नए मामले सामने आ रहे हैं.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *