दिल्ली विधानसभा में हंगामा, राकेश अस्थाना की नियुक्ति का विरोध

नई दिल्‍ली। दिल्ली विधानसभा का मॉनसून सत्र गुरुवार को हंगामेदार रहा। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विधायक ओमप्रकाश द्वारा आपत्तिजनक शब्द को लेकर सत्तापक्ष वेल में उतर गया। इस पर विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने विधायक ओमप्रकाश से सदन में माफी मांगने को कहा। इसके बाद पूरे दिन के लिए ओमप्रकाश सदन से निष्कासित कर दिया गया। दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने कहा कि विपक्ष को अब सदन में 20 मिनट से ज्यादा एक सेकंड नहीं मिलेगा।
राकेश अस्थाना की नियुक्ति को असंवैधानिक बताया
दिल्ली विधानसभा में दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना की नियुक्ति का विरोध करते हुए इसे असंवैधानिक बताया। आप विधायकों ने कहा कि अस्थाना की नियुक्ति सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की अवहेलना है। सुप्रीम कोर्ट के अनुसार जिस व्यक्ति की सेवा कम से 6 महीने बची हो, उसे ही पुलिस प्रमुख या डीजीपी के रूप में नियुक्त किया जा सकता है। आप विधायक गुलाब सिंह ने कहा कि राकेश अस्थाना विवादों से घिरी हुई शख्सियत हैं। विधायक ने कहा कि सीबीआई में इनका विवाद किसी से छुपा नहीं है। उन्होंने कहा कि केंद्र को ऐसी क्या जल्दी थी कि उनकी नियुक्ति की गई। ऐसे विवादित आदमी को नियुक्ति का उद्देश्य आप के विधायकों और संगठनों के फैलाव को कुचलने का प्रयास अस्थाना के जरिये किया गया है।
भाजपा के लिए चंदा एकत्रित करने का काम किया है
आप विधायक ने कहा कि राकेश अस्थाना ने भाजपा के लिए चंदा इकट्ठा करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि यह नियुक्ति आप सरकार को दबाने का प्रयास किया गया है। अखिलेश पति त्रिपाठी ने कहा कि जिस तरह से दिल्ली कमिश्नर की नियुक्ति हुई है, उससे देश के साथ ही दिल्ली के लोग भी अचंभित हैं। उन्होंने कहा कि अस्थाना का चरित्र दागदार है। त्रिपाठी ने कहा कि केंद्र सरकार की तरफ से केंद्रीय संस्थाओं का दुरुपयोग किया जा रहा है।
केंद्र सरकार संविधान का मर्डर करने पर तुली है
विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने कहा कि यह केंद्र सरकार संविधान का मर्डर करने पर तुली है। इससे पहले बीजेपी विधायक महाजन को भी बाहर किया। हंगामे के बाद अनिल वाजपेयी को सदन से बाहर किया गया। दिल्ली विधानसभा का यह दो दिन का मॉनसून सत्र में पहले दिन के प्रश्नकाल के 36 मिनट से ज्यादा समय हंगामे की भेंट चढ़ गए।
निगम में कर्मियों के पद पर लंबे समय तक बने का मुद्दा उठाया
मॉडल टाउन से आम आदमी पार्टी के विधायक अखिलेश पति त्रिपाठी ने नगर निगम में एक ही पद पर लंबे तक कर्मचारियों के जमे रहने का मुद्दा उठाया। आप विधायक ने कहा कि नगर निगम में कई कर्मचारी ऐसे हैं जो 40-40 साल से एक ही जगह पर जमे बैठे हैं। उन्होंने एमसीडी के कर्मचारियों की तरफ से वसूली का मामला उठाया। उन्होंने एमसीडी में 5 साल से अधिक समय से एक ही पद पर बैठे लोगों की जानकारी देने की मांग की। उन्होंने कहा कि इससे निगम में हो रहे भ्रष्टाचार की पोल खुलेगी।
स्लॉटर हाउस, नाले का मामला सामने रखा
त्रिलोक पुरी के विधायक रोहित कुमार ने अपने एरिया में सुअरों के स्लॉटर हाउस से जुड़ा मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि ये लोगों के स्वास्थ्य के साथ ही रोजगार से जुड़ा मुद्दा भी है। उन्होंने मंत्री ने इलाके में स्लॉटर हाउस की व्यवस्था कराने की मांग की। हरिनगर से विधायक राज कुमार ढिल्लो ने मायापुरी में झुग्गी-झोपड़ियों के बीच से गुजरने वाले नाले का मुद्दा सामने रखा। उन्होंने कहा कि वे इस मामले को संबंधित अधिकारियों और इंजीनियरों के समक्ष उठाया। उन्होंने कहा कि इस बरसात में नाले की वजह से वहां रहने वाले लोगों को हो रही परेशानी का जिक्र किया। उन्होंने नाले से पानी की जल्द से जल्द निकासी कराने की मांग उठाई।
दिल्‍ली सरकार पर दबाव बनाएगी भाजपा
लक्ष्मी नगर के बीजेपी विधायक अभय वर्मा ने परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत के खिलाफ विधानसभा अध्यक्ष के पास शिकायत दर्ज कराई है। वर्मा ने डीटीसी बस खरीद मामले में विधानसभा में दिए गए एक बयान का हवाला देते हुए गहलोत पर सदन को गुमराह करने का आरोप लगाया है। वहीं प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने दिल्ली सरकार से अनुसूचित जाति वर्ग के छात्रों की छात्रवृत्ति का पैसा तुरंत जारी करने की मांग भी की है। गुप्ता का दावा है कि अनुसूचित जाति के मेधावी छात्रों को 2 साल से छात्रवृत्ति नहीं मिल रही है, जिसकी वजह से उनकी शिक्षा प्रभावित हो रही है।
बहुगुणा को ‘भारत रत्‍न’ का प्रस्‍ताव लाएगी सरकार?
प्रख्यात पर्यावरणविद् और चिपको आंदोलन के प्रणेता सुंदर लाल बहुगुणा को भारत रत्न दिए जाने की मांग को लेकर एक प्रस्ताव भी सदन में लाया जा सकता है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री को पत्र लिख चुके हैं और अपने पत्र में उन्होंने सुंदर लाल बहुगुणा को भारत रत्न से सम्मानित करने का अनुरोध किया है। इसके अलावा आप विधायक दिल्ली में जलभराव और नालों की सफाई को लेकर एमसीडी को घेरने की कोशिश करेंगे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *