धनशोधन मामले में पत्रकार उपेंद्र राय की 26.65 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने धनशोधन के एक मामले की जांच के संबंध में वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र राय की 26.65 करोड़ रुपये की संपत्ति बुधवार को जब्त कर ली।
ईडी के एक अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि एजेंसी ने ग्रेटर कैलाश-1 क्षेत्र में एक इमारत और हैली रोड स्थित एक फ्लैट को जब्त किया है।
इसके साथ ही ईडी ने उत्तर प्रदेश के गौतबबुद्ध नगर में एक फ्लैट व एक पेंटहाउस और लखनऊ में गोमतीनगर व गोखले मार्ग पर स्थित एक-एक फ्लैट जब्त किए हैं।
ईडी ने इसके साथ ही 5.62 करोड़ रुपये बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट राशि व म्यूचअल फंड और तीन लक्जरी कारें जब्त की हैं।
ईडी ने इससे पहले राय के खिलाफ 29.58 करोड़ रुपये के धनशोधन मामले में आरोप-पत्र दाखिल किया था। उनके ऊपर विभिन्न कंपनियों और कॉरपोरेट घरानों से काफी मात्रा में धन की उगाही करने का भी आरोप है।

कुर्क की गई संपत्ति में क्या-क्या है
ईडी ने सी 24 ग्रेटर कैलाश वन का पहला फ्लोर और गैराज ब्लॉक, दूसरा फ्लोर, तीसरा फ्लोर, तीसरे फ्लोर की छत और गैराज ब्लॉक कुर्क किया है.
इसके अलावा गांव मोउनुद्दीनपुर कानावानी, परगना लोनी और जिला गौतमबुद्धनगर के ‘अरिहंत पैराडाइसो’ ए ब्लॉक का पूरा फ्लैट नंबर 104 कुर्क हुआ है.
वहीं सरस्वती अपार्टमेंट्स, रिवर व्यू एनक्लेव स्कीम सेक्टर 4 गोमती नगर एक्सटेंशन, लखनऊ में फ्लैट नंबर एसआर/1105 ब्लॉक ई में स्थित पेंट हाउस कब्जे में ले लिया गया है.
इसके साथ लखनऊ के 13 गोखले मार्ग पर स्थित शालीमार इम्पीरियल के पश्चिम ब्लॉक के डी विंग का फ्लैट नंबर डी-9 कुर्क कर लिया गया है.
दिल्ली के कनॉट सर्कस पर 9 हेली रोड पर स्थित आशादीप के नाम से फ्लैट नंबर 801 को कुर्क कर लिया गया है.
नोएडा के सेक्टर 21 में जलवायु विहार स्थित फ्लैट नंबर 368 जो कि पांचवे फ्लोर पर है उसको भी ईडी ने कब्जे में ले लिया है.
इसके अलावा 5.62 करोड़ रुपये कीमत के म्यूचुअल फंड सहित बैंक में जमा राशि भी कुर्क की गयी है.
3 मई को हुआ था उपेंद्र राय गिरफ्तार
दरअसल इससे पहले राय को सीबीआई ने तीन मई को संदिग्ध वित्तीय लेनदेन करने, गलत जानकारियां मुहैया कराके नागरिक उड्डयन सुरक्षा ब्यूरो द्वारा बनाये गये हवाईअड्डा पर आने जाने के पास को हासिल करने और मुंबई के एक कारोबारी के खिलाफ आयकर विभाग के एक मामले में छेड़छाड़ करने और कथित उगाही के मामले में गिरफ्तार किया था.
सीबीआई द्वारा दायर एफआईआर के आधार पर ईडी ने राय के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया.
2017 में राय के खाते में 79 करोड़ रुपये आए
सीबीआई ने अपनी एफआईआर में आरोप लगाया है कि 2017 में राय के खाते में हर बार एक लाख से ज्यादा के लेनदेन हुए हैं और राय के खाते में 79 करोड़ रुपये आए जिनमें से इस दौरान 78.51 लाख रुपये निकाल लिए गए.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *