मनीष सिसोदिया पर 100 करोड़ रुपये की मानहानि का केस फाइल

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के हाल के राजनीतिक बयान पर उनके खिलाफ मानहानि का केस दर्ज हो गया है। असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा की पत्नी रिंकी भुइयां ने मंगलवार को पीपीई किट मुद्दे पर उनके खिलाफ 100 करोड़ रुपये का मुकद्दमा दायर किया। इस मामले को 22 जून को गुवाहाटी उच्च न्यायालय में सूचीबद्ध किए जाने की उम्मीद है।
दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इस महीने की शुरूआत में पीपीई किट के कॉन्‍ट्रैक्ट को लेकर असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा के खिलाफ भ्रष्टाचार की बात कही थी। सिसोदिया ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आरोप लगाया कि हिमंत बिस्वा सरमा ने अपनी पत्नी रिंकी भुइयां सरमा और बेटे के बिजनेस पार्टनर्स की फर्मों को 2020 में बाजार दरों से अधिक पर पीपीई किट की आपूर्ति के लिए सरकारी ठेके दिए थे।
अधिवक्ता पी नायक ने कहा कि उनके मुवक्किल ‘रिंकी भुइयां सरमा’ ने मनीष सिसोदिया के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। मनीष सिसोदिया ने इस मामले में राजनीतिक बयान दिया और भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे।’ अधिवक्ता नायक ने आगे साफ किया कि ‘रिनिकी भुइयां ने प्रक्रिया के लिए कोई टेंडर दाखिल नहीं की, और सीएसआर गतिविधियों के तहत पीपीई किट को दान के रूप में जमा किया।’
आप नेता ने कहा कि ‘असम सरकार ने जहां अन्य कंपनियों से 600 रुपये प्रति पीस के हिसाब से पीपीई किट खरीदी, वहीं सरमा ने आपात स्थिति का फायदा उठाते हुए अपनी पत्नी और बेटे के बिजनेस पार्टनर्स की फर्मों को 990 रुपये प्रति पीस का ठेका दिया।’
सिसोदिया ने यह भी बताया कि असम के मुख्यमंत्री की पत्नी की फर्म चिकित्सा उपकरणों का भी कारोबार नहीं करती है। उन्होंने कहा, “जबकि सरमा की पत्नी की फर्म को दिया गया अनुबंध रद्द कर दिया गया था क्योंकि कंपनी पीपीई किट की आपूर्ति नहीं कर सकती थी, एक अन्य आपूर्ति आदेश उनके बेटे के व्यापारिक भागीदारों से संबंधित फर्म को ₹ 1,680 प्रति किट की दर से दिया गया था।”
हिमंत बिस्वा सरमा ने मनीष सिसोदिया के आरोपों का जवाब देते हुए दावा किया कि उनकी पत्नी ने सरकार को पीपीई किट मुफ्त में दीं थीं। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “ऐसे समय में जब पूरा देश 100 से अधिक वर्षों में सबसे खराब महामारी का सामना कर रहा था, असम के पास शायद ही कोई पीपीई किट थी। मेरी पत्नी ने आगे आकर जीवन बचाने के लिए सरकार को लगभग 1500 किट मुफ्त दान करने का साहस किया।।”
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *